तेलंगाना सरकार का बड़ा फैसला, छठी से आठवीं कक्षाएं 24 फरवरी से होंगी शुरू

23 Feb, 2021 15:37 IST|Sakshi
कॉन्सेप्ट इमेज

हैदराबाद: तेलंगाना सरकार (Telangana Government) ने बड़ा फैसला लेते हुए 6 ठी से 8 वीं क्लास की कक्षाएं शुरू करने का फैसला किया है। आगामी 24 फरवरी से क्लासेस शुरू होंगे। इसके साथ ही सरकार ने स्कूल प्रबंधन को कोविड-19 गाइडलाइन्स (Covid-19 Guidelines) का सख्ती से पालन करने की हिदायत दी है। 

मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (K Chandrashekhar Rao) के निर्देश पर ये फैसला लिया गया है। इस बारे में शिक्षा मंत्री पी सबिता इंद्रा रेड्डी ने जानकारी देते हुए कहा कि 6 ठी से 8 वीं कक्षाएं 24 फरवरी से लेकर 1 मार्च के बीच तक शुरू कर दी जाएंगी। 

बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर बीते साल मार्च महीने से ही स्कूल बंद हैं। इससे पहले राज्य सरकार ने 9वीं से 12वीं कक्षाएं शुरू करने की इजाजत दी थी। अब अहम फैसला लेते हुए 6ठी से 8 वीं कक्षाएं शुरू करने का फैसला लिया गया है। वहीं प्राथमिक कक्षाओं में शामिल पहली से पांचवी तक के क्लासेस मौजूदा अकादमिक सेशन में बंद रहेंगे। 

सरकार की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि स्कूल भेजने के लिए अभिभावकों की सहमति जरूरी होगी। स्कूल प्रबंधन को सुनिश्चित करना होगा कि जो बच्चे स्कूल नहीं आ पाएं उनके लिए ऑनलाइन कक्षाएं जारी रहे। 

शिक्षा मंत्री सबिता इंद्रा रेड्डी ने जारी किया आदेश

शिक्षा मंत्री सबिता इंद्रा रेड्डी ने संबंधित विद्यालय प्रबंधकों को स्पष्ट निर्देश दिया है कि वो छात्रों को स्कूल आने के लिए बाध्य नहीं करें। शिक्षकों के साथ ही छात्रों द्वारा भी कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन सुनिश्चित करने का मंत्री ने निर्देश दिया है। सरकारी के साथ ही निजी स्कूलों में सफाई को प्राथमिकता देने पर सबिता इंद्रा रेड्डी ने जोर दिया। मंत्री ने खासकर बच्चों से अपील की है कि वो स्कूल में मास्क जरूर लगाएं और दैहिक दूरी के नियमों का पालन करें। 

सरकार की ओर से जारी आदेश के मुताबिक कक्षा 6,7,8 के लिए ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था भी जारी रहेगी। ताकि जो बच्चे स्कूल नहीं जा पाएंगे वो घर से ही पहले की तरह ऑनलाइन पढ़ाई कर सकते हैं। मंत्री के मुताबिक सरकार के फैसले के बाद राज्य के 17.10 लाख स्कूली बच्चे अब विद्यालय जा सकेंगे। मंत्री के मुताबिक अब 8,891 सरकारी स्कूलों में पढ़ाई की व्यवस्था सुचारू हो पाएगी। साथ ही निजी स्कूलों के 8,28,516 बच्चे और 1157 गुरुकुल शिक्षण संस्थानों के 1,98,853 बच्चे अब स्कूल जा सकेंगे। 

इस बारे में मंत्री ने शिक्षा अधिकारियों से तैयारी दुरुस्त करने का निर्देश दिया। शासनादेश के मुताबिक किसी भी सूरत में कोरोना गाइडलाइन की अनदेखी नहीं करनी होगी। साथ ही चेतावनी दी गई कि कोताही बरतने वाले स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा सकती है। 
 

यह भी पढ़ें: 

27 लाख स्टूडेंट तेलंगाना के सरकारी स्कूलों में पढ़ाई कर रहे हैं: KTR

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.