भारी बारिश से प्रभावित पीड़ितों में वितरीत हुए 18,700 किट, GHMC की बनेंगी स्पेशल टीमें

19 Oct, 2020 16:14 IST|के. लक्ष्मण
मंत्री केटीआर

तीन तालाब क्षतिग्रस्त होने से बड़े पैमाने पर हुआ नुकसान

लोगों को सतर्क करने के लिए 80 वरिष्ठ अधिकारी नियुक्त

हैदराबाद : मंत्री केटीआर ने कहा कि अगले तीन दिनों में भारी बारिश होने की संभावना है। उन्होंने शिथिलावस्था में मौजूद भवनों को लोग खाली कर दें। संपत्ति का नुकसान होगा तो भरपाई की जा सकेगी, लेकिन जानमाल का नुकसान न होने दें। 

केटीआर ने भारी बारिश और बाढ़ को लेकर जीएचएमसी अधिकारियों के साथ समीक्षा की। उन्होंने कहा कि हैदराबाद में असाधारण बारिश हुई है। जीएचएमसी क्षेत्र में रिकॉर्ड स्तर पर बारिश हुई है। 

मंत्री ने कहा कि हैदराबाद में इतने पैमाने पर भारी बारिश होना दूसरी बार है। वर्ष 1908 में मुसी नदी में बाढ़ आई थी। जीएचएमसी में अब तक 80 प्रतिशत अधिक बारिश दर्ज हुई है। अब तक लोगों में 18,700 किट वितरीत किये गये हैं। किट में 11 प्रकार की सामग्रियां हैं। उन्होंने कहा कि तीन तालाब क्षतिग्रस्त होने से बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है। पिछले सप्ताह शिथिलावस्था में मौजूद 59 निर्माण को हटाया गया। जीएचएमसी क्षेत्र में अब तक 33 लोगों की भारी बारिश के दौरान मौत हो गई है। तीन लोग डूब गये हैं। उनका अभी तक पता नहीं चला है। भारी बारिश के दौरान मरनेवालों की जानकारी सरकार के पास नहीं है, ऐसा कहना सही नहीं है। 

इसे भी पढ़ें

हैदराबाद के बाढ़ग्रस्त इलाकों में केटीआर का दौरा, लोगों को दिया मदद का आश्वासन

हैदराबाद में बाढ़ से भयावह हुई स्थिति, मदद के लिए सरकार को उतारने पड़े हेलिकॉप्टर

केटीआर ने कहा कि हैदराबाद में भारी बारिश के दौरान सतर्क करने के लिए 80 वरिष्ठ अधिकारियों को सरकार ने नियुक्त किया है। फिलहाल, 80 क्षेत्रों में पानी का जमाव हुआ है। अपार्टमेंट में बिजली की पुनर्बहाली की जा रही है। हैदराबाद के दक्षिण क्षेत्र में बारिश प्रभाव अधिक है। जीएचएमसी के नेतृत्व स्पेशल टीम बनाई जायेगी। उन्होंने कहा कि सरकार ने अब तक अलग-अलग क्षेत्र के लिए खर्च किये हैं। 

मंत्री ने आश्वस्त करते हुए कहा कि लोगों की सहायता के तौर 670 करोड़ रुपये और खर्च किये जा रहे हैं। राज्य स्तर पर हुई भारी बारिश और नुकसान का प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया है। केंद्र प्रस्ताव पर विचार करेगा और सकारात्मक सहयोग देगा। 

Related Tweets
Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.