पुलिस ने चुक्कालू और बाजीराव को पकड़कर गोली मार दी : माओवादी भास्कर

20 Sep, 2020 22:44 IST|के. राजन्ना
कांसेप्ट फोटो

कागजनगर मंडल के कदंबा जंगल में हुआ मुठभेड़ फर्जी

टीआरएस और भाजपा नेताओं को सजा दी जाएगी

ताजा मुठभेड़ लोगों के क्रूर उत्पीड़न का उदाहरण है

मंचिरियाल (तेलंगाना) : माओवादी पार्टी के राज्य कमेटी के सदस्य, कुमुरभीम और मंचिरियाल (KBM) संभाग समिति का नेतृत्व कर रहे मैलारपु अडेल्लु उर्फ ​​भास्कर के नाम से कदंबा जंगल में हुए मुठभेड़ की निंदा करते हुए एक खुला पत्रा जारी किया गया है। पत्र में भास्कर ने आरोप लगाया कि कागजनगर मंडल के कदंबा जंगल में हुई मुठभेड़ फर्जी है। फर्जी मुठभेड़ की हम निंदा करते हैं। पुलिस ने हमारे कामरेडों को पकड़कर गोली मार दी है।

भास्कर ने कहा कि लोगों की समस्याओं को जानने के लिए आए चुक्कालू और बाजीराव को पुलिस ने घेर लिया और गोली मार दी। भास्कर ने चेतावनी दी कि फर्जी मुठभेड़ों के लिए जिम्मेदार टीआरएस और भाजपा नेताओं को लोगों के हाथों सजा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि तेलंगाना में ताजा मुठभेड़ लोगों के क्रूर उत्पीड़न का उदाहरण है।

उन्होंने कहा कि साल 2022 तक क्रांतिकारी आंदोलन को दबाने के इरादे से इस तरह के हमले किए जा रहे हैं। क्रांतिकारी आंदोलन में कॉमरेड चुक्कालु और बाजीराव शहीद हो गए हैं। इनके शहादत के बाद भी क्रांतिकारी आंदोन नहीं रुकेगा। उन्होंने याद किया कि तेलंगाना क्रांतिकारी आंदोलन में संयुक्त आदिलाबाद जिले की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। 

यह भी पढ़ें :

तेलंगाना में पुलिस के साथ मुठभेड़ में दो माओवादी ढेर !

भास्कर ने पत्र में आगे कहा कि बाजीराव हाल ही में पार्टी में शामिल हुआ था। उनके आंदोलन और त्याग को हमेशा के लिए याद किया जाएगा। भास्कर ने कहा कि कामरेड चुक्कालु और बाजीराव की बलिदान व्यर्थ नहीं होने देंगे। 

आपको बता दें कि कागजनगर मंडल के कदंबा जंगल में शनिवार रात को पुलिस और माओवादियों के बीच हुए मुठभेड़ में दो माओवादी मारे गए थे। पता चला है कि केबीसी डिवीजन कमेटी के नेता भास्कर उस एनकाउंटर से बाल-बाल बच गये।

                                माओवादी भास्कर के नाम का खुला पत्र
 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.