ब्रह्मर्षि समाज हैदराबाद कार्यकारिणी की वर्चुअल बैठक सम्पन्न, यह रहा विषय

4 Aug, 2020 19:23 IST|के. राजन्ना
ब्रह्मर्षि समाज के सदस्य

ब्रह्मर्षि समाज हैदराबाद के कार्यकारिणी सदस्यों की मासिक बैठक

समाज के पूर्व अध्यक्ष श्यमनंदन सिंह के निधन पर शोक व्यक्त

हैदराबाद : ब्रह्मर्षि समाज हैदराबाद के कार्यकारिणी सदस्यों की मासिक बैठक वर्चुअल रूप में ज़ूम ऐप के माध्यम से सम्पन्न हुआ। समाज के महासचिव श्री इंद्रदेव सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी की वजह से गत कई महीनों से बैठक नहीं हो पा रही थी, इसलिए कार्यकारिणी ने वर्चुअल बैठक करने का फ़ैसला लिया।

बैठक का मुख्य मुद्दा परशुराम मंदिर की देख रेख, समाज के कार्यों की चर्चा और आगामी कार्यक्रमों के बारे में विचार विमर्श करना था। वर्चुअल बैठक में समाज के पूर्व अध्यक्ष श्यमनंदन सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया गया और खेद प्रकट किया गया कि महामारी की वजह से समाज सामूहिक रूप से श्रद्धांजलि सभा का आयोजन नहीं कर पाया और साथ ही आश्वस्त किया गया कि स्थिति सामान्य होते ही यह आयोजन समाज द्वारा अवश्य किया जाएगा।

जगतगीरिगुट्टा स्थित ब्रह्मर्षि के वंशपुरुष भगवान परशुराम मंदिर की देख रेख जो अब तक पूर्व अध्यक्ष स्वर्गीय श्यमनंदन सिंह के निगरानी में होता था के सम्बंध में बात चीत की गई और यह ज़िम्मेदारी उनके सुपुत्र और कार्यकारिणी सदस्य श्री सुनील सिंह को सौंपी गई। उन्होंने आश्वस्त किया कि मंदिर सुचारु रूप से चल रहा है और भविष्य में भी चलता रहेगा।

यह भी पढ़ें :

ब्रह्मर्षि समाज हैदराबाद महिला विंग का सावन मिलन समारोह सम्पन्न

मंदिर चलाने हेतु मासिक खर्च एवं आर्थिक सहयोग के सम्बंध में श्री गोविंद जी राय से जानकारी ली गई और उन्होंने मासिक खर्च का ब्योरा देते हुए कहा कि वर्तमान वर्ष 2020 में मंदिर को संभवतः आर्थिक कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ेगा। महामारी की वजह से सारी गतिविधियाँ स्थगित है। चूँकि सामूहिक मिलन या कार्यक्रम सुरक्षित नहीं है इसलिए प्रत्येक वर्ष 15-16 अगस्त को मंदिर में होनेवाले अखंड रामायण और अष्टयाम कार्यक्रम का भव्य रूप से आयोजन के लिए बैठक में उपस्थित सभी सदस्यों की राय ली गई।

समाज के अध्यक्ष श्री सुजीत ठाकुर ने उपाध्यक्ष श्रीमती सुधा राय, कोषाध्यक्ष श्री पंकज सिंह, महिला अध्यक्ष श्रीमती रागिनी सिन्हा, श्री रंजीत शुक्ला, श्री मुकेश कुमार, श्रीमती गीतू शर्मा, श्री मानवेंद्र मिश्रा, श्री प्रेमशंकर सिंह, श्री आर पी सिंह, डॉ आशा मिश्र, आदि की राय को देखते हुए इस बात से सहमत हुए कि मंदिर पर जाकर पूजा में भाग लेना और रामचरितमानस का अखंड पाठ करना सदस्यों के लिए कोरोना संक्रमण को बढ़ाने में सहयोगी हो सकता है। अतः उन्होंने इस वर्ष इस कार्यक्रम को सीमित कर सिर्फ़ मंदिर तक ही रखने का फ़ैसला किया।

उन्होंने कहा कि मंदिर के पुजारी और श्री सुनील सिंह इस कार्यक्रम को अंजाम देंगे। 15 अगस्त को झंडोत्तोलन की ज़िम्मेदारी भी उन्हें ही सौंपी गई। महासचिव के आमंत्रण पर श्री शिव कुमार ठाकुर एवं श्री सुमन्त कुमार ने मधुबनी से विशेष तौर पर बैठक में हिस्सा लेकर अपने बहुमूल्य सुझाव दिए। अतः सदस्यों ने उनके प्रति विशेष आभार प्रकट किया। जब तक परिस्थिति सामान्य नहीं होती तबतक मासिक बैठक भी इसी तरह ऑनलाइन करने का निर्णय लिया गया। धन्यवाद ज्ञापन एवं भविष्य में महामारी की स्थिति सामान्य होने की आशा के साथ बैठक सम्पन्न हुआ।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.