विरोध प्रदर्शन नाकाम करने के लिए भाजपा नेताओं को पुलिस ने किया नजरबंद

27 Oct, 2020 18:40 IST|के. लक्ष्मण
नजरबंद तेलंगाना भाजपा नेता

भाजपा की जीत की संभावनाओं को लेकर चिंतित है टीआरएस

हैदराबाद : पुलिस ने मंगलवार को मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास पर विरोध प्रदर्शन करने की भाजपा की कथित योजना को विफल करने के लिए पार्टी के नेताओं को घर में नजरबंद कर दिया। भाजपा नेताओं ने 'प्रगति भवन' का घेराव करने की योजना बनाई थी। पुलिस ने भाजपा उपाध्यक्ष डी.के. अरुणा, तेलंगाना विधान परिषद के सदस्य रामचंद्र राव, पार्टी के एकमात्र विधायक राजा सिंह, मोटकुपल्ली नरसिम्हुलु और अन्य को घर में नजरबंद कर दिया।

अरुणा के आवास पर उन्हें घर से निकलने से पहले रोकने के लिए पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था। उन्होंने पुलिस अधिकारियों से कहा कि उन्हें 3 नवंबर को होने वाले विधानसभा उपचुनाव के लिए प्रचार करने के लिए दुब्बाका रवाना होना है। रामचंद्र राव ने नजरबंदी को लोकतंत्र की हत्या करार दिया। उन्होंने कहा कि सिद्दीपेट में हुई घटनाओं के संबंध में शिकायत करने के लिए भाजपा नेताओं को मुख्य निर्वाचन अधिकारी और राज्यपाल से मिलने की आजादी है।

इसे भी पढ़ें :

तेलंगाना : गरमाया दुब्बाका उपचुनाव प्रचार, एक दूसरे पर लगा रहे हैं ऐसे आरोप

रामचंद्र राव ने आरोप लगाया कि टीआरएस सरकार दुब्बाका में भाजपा की जीत की संभावनाओं को लेकर चिंतित है। पुलिस के साथ सिद्दीपेट तहसीलदार और कार्यकारी मजिस्ट्रेट ने भाजपा उम्मीदवार के एक रिश्तेदार के घर से 18.67 लाख रुपये जब्त किए थे। 

Related Tweets
Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.