हैदराबाद को 'इस्तांबुल' बनाना चाहते KCR और ओवैसी, तेजस्वी सूर्या का आरोप

23 Nov, 2020 17:37 IST|Sakshi

हैदराबाद: महानगर में GHMC चुनाव के मद्देनजर बीजेपी के फायरब्रैंड नेता आग उगलने लगे हैं। इसी सिलसिले में भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद तेजस्वी सूर्या ने AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी और मुख्यमंत्री केसीआर पर गंभीर आरोप लगाए हैं। सूर्या ने तंज कसते हुए कहा कि दोनों नेताओं की कोशिश देश को पाकिस्तान और हैदराबाद को इस्तांबुल बनाने की है। जाहिर है बीजेपी के नेता की कोशिश है कि आगामी जीएचएमसी चुनाव में धर्म के आधार पर गोलबंदी हो। अगर बीजेपी इस काम में सफल होती है तो भी ओल्ड सिटी हैदराबाद में अपेक्षित नतीजे हासिल करना इतना आसान नहीं होगा। 

बिहार चुनाव में बीजेपी ने अच्छी जीत हासिल की और एनडीए की सरकार बन चुकी है। अब पूरी तरह पार्टी का फोकस दक्षिण के राज्यों में शामिल तेलंगाना, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश जैसे राज्यों पर है। पश्चिम बंगाल में बीजेपी ममता सरकार के खिलाफ ताल ठोंके हुए है। इस बीच इन तमाम राज्यों में तेजस्वी सूर्या लगातार दौरे कर रहे हैं। हैदराबाद प्रवास के दौरान सूर्या ने AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी और मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के खिलाफ जमकर आरोप लगाए। 

विकास को लेकर ओवैसी पर भरोसा नहीं

तेजस्वी सूर्या ने कहा कि असदुद्दीन ओवैसी को विकास की बातें नहीं करनी चाहिए, क्योंकि हैदराबाद को देखकर ऐसा लगता है कि ओवैसी ने यहां के डेवलपमेंट को रोके रखा है। सूर्या ने आरोप लगाया कि हैदराबाद में विकास के नाम पर सिर्फ रोहिंग्या मुसलमानों को बसाया गया। इन सबको लेकर मुख्यमंत्री केसीआर भी आंखें मूंदे बैठे हैं। बीजेपी सासंद ने कहा, 'ये हास्यास्पद है कि अकबरुद्दीन और असदुद्दीन ओवैसी विकास की बात कर रहे हैं। उन्होंने पुराने हैदराबाद में किसी भी तरह के विकास की अनुमति नहीं दी है। उन्होंने पुराने हैदराबाद में केवल रोहिंग्या मुसलमान को अनुमति दी है, तो उन्हें विकास पर बात करने का कोई हक नहीं है।'

ओवैसी को जिन्ना का अवतार बताया 

तेजस्वी सूर्या ने तीखा तंज करते हुए असदुद्दीन ओवैसी की तुलना मोहम्मद अली जिन्ना से की और ओवैसी को जिन्ना का ही अवतार बताया। उन्होंने तो यहां तक कहा कि औवेसी को वोट देने का मतलब भारत के खिलाफ वोट देना है। जीएचएमसी चुनाव का महत्व समझाते हुए सूर्या ने कहा कि अगर निगम चुनावों में ओवैसी को अच्छी बढ़त मिलती है तो बाकी राज्यों में इसका संदेश जाएगा। जिसका खामियाजा देश को भुगतना पड़ सकता है। 

'भारत को बनाना चाहते हैं तुर्की और पाकिस्तान'

तेजस्वी सूर्या ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव को भी आड़े हाथों लिया। उनके मुताबिक केसीआर और ओवैसी मिलकर हैदराबाद को इस्तांबुल बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि तुर्की के राष्ट्रपति भारत के खिलाफ बोलते रहे हैं और केसीआर हैदराबाद को ही इस्तांबुल बनाना चाहते हैं। वह ओवैसी के साथ गठबंधन करके पाकिस्तान जैसे हालत हैदराबाद में करना चाहते हैं।

तेजस्वी सूर्या का क्या है बैकग्राउंड

बीजेपी के फायरब्रैंड नेता के तौर पर शुमार सांसद तेजस्वी सूर्या का आरएसएस बैकग्राउंड है। उन्होंने कानून की पढ़ाई की है लिहाजा उनके भाषणों में वजन होता है। युवा चेहरे के तौर पर हाल के दिनों में बीजेपी सूर्या को काफी महत्व देती है। यहां तक कि उन्हें अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष का जिम्मा भी दिया गया है। तेजस्वी सूर्या का जन्म कर्नाटक के बेंगलुरु में 16 नवंबर 1990 को हुआ था। तेजस्वी ने महज 9 साल की उम्र में अपनी पेंटिंग्स बेचकर करगिल युद्ध में अंशदान किया था। उन्हें साल 2001 का बालश्री सम्मान भी हासिल है। तेजस्वी सूर्या ने एराइज इंडिया (Arise India) नाम से एक एनजीओ भी बनाई है। 

विवादों में भी रहे हैं तेजस्वी सूर्या

अप्रैल 2019 को कर्नाटक राज्य महिला आयोग ने तेजस्वी सूर्या को महिला के साथ अभद्रता के आरोप में समन किया था। इसको लेकर तेजस्वी सूर्या के खिलाफ कर्नाटक राज्य कांग्रेस भी काफी आक्रामक रही थी। हालांकि पीड़ित महिला ने बाद में अपनी शिकायत वापस ले ली और महिला आयोग ने भी इस बारे में अपनी जांच बंद कर दी थी। 
 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.