गिलक्रिस्ट और धोनी भी नहीं तोड़ सके हैं किरण मोरे के 31 साल पुराने ये विश्व रिकॉर्ड

3 Sep, 2020 23:42 IST|मो. जहांगीर आलम
किरण मोरे ( फोटो : सौ. सोशल मीडिया)

सौरव गांगुली को टीम से किया बाहर

आज तक ताजा है जावेद मियांदाद के साथ विवाद 

किरण मोरे के जेहन में छाप छोड़ गए ग्राहम गूच

हैदराबाद :  जब कभी भारत के स्टार विकेटकीपरों की गिनती की जाएगी तो उस सूची में किरण मोरे का नाम जरूर शामिल होगा। 49 टेस्ट मैचों में 1285 रन और विकेटरों के पीछे 130 शिकार करने वाले किरण मोरे का आज जन्मदिन है। भारत के पूर्व विकेटकीपर और पूर्व चयनकर्ता रहे किरण मोरे आज अपना 58वां जन्मदिन मना रहे हैं। उनका जन्म 4 सितंबर 1962 को गुजरात के बडोदरा में हुआ था। उन्होंने भारत के लिए 49 टेस्ट में 130 शिकार किए हैं तो वहीं 94 वनडे मैचों में 563 रन बनाए हैं।

सर्वाधिक स्टंप कर बनाया था रिकॉर्ड

भारतीय क्रिकेट टीम में किरण मोरे ने साल 1984 में डेब्यू किया। जिसके बाद कुछ साल तो उनके द्वारा कोई खास कारनामा नहीं किया गया लेकिन 1988 में किरण मोरे ने जो किया वो उन्हें विश्व क्रिकेट का सबसे खास विकेटकीपर बना गया जहां उन्होंने विश्व रिकॉर्ड को अंजाम दिया। 

दरअसल, साल 1988 में वेस्टइंडीज के खिलाफ चेन्नई में खेले गए टेस्ट मैच में भारत की तरफ से स्पिन गेंदबाज नरेन्द्र हिरवानी ने डेब्यू किया। नरेन्द्र हिरवानी और किरण मोरे ने मिलकर इस मैच में धमाल कर दिया। किरण मोरे ने इस मैच की एक ही पारी में नरेन्द्र हिरवानी की गेंद पर 5 स्टंप का विश्व रिकॉर्ड कामय किया तो दोनों पारियों में मिलाकर 6 स्टंप किए जो आज तक टेस्ट क्रिकेट की किसी एक मैच में सर्वाधिक स्टंप करने का रिकॉर्ड है।

किरण मोरे के जेहन में छाप छोड़ गए ग्राहम गूच

किरण मोरे का करियर अब आगे बढ़ रहा था और साल 1990 में उनके साथ एक ऐसी याद भी जुड़ गई जिसे वो कभी भी याद नहीं रखना चाहते होंगे। 1990 में किरण मोरे ने इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट मैच में संजीवशर्मा की गेंद पर 36 रनों पर खेल रहे ग्राहम गूच का कैच छोड़ दिया। इस जीवनदान के बाद ग्राहम गूच ने पूरे मैच के दौरान किरण मोरे के जेहन में छाप छोड़ गए और उन्होंने उस पारी में 333 रनों की पारी खेली तो वहीं अगली पारी में भी गूच ने 123 रन बनाए। मोरे की इस चूक ने भारत को मैच में 247 रनों से हारने पर मजबूर किया।

आज तक ताजा है जावेद मियांदाद के साथ विवाद 

किरण मोरे भारत के एक बड़े ही सुर्खियों में रहने वाले विकेटकीपर रहे हैं। साल 1992 विश्व कप में किरण मोरे और पाकिस्तान के जावेद मियांदाद के बीच बड़ी जबरदस्त तकरार देखने को मिली थी। उस मैच में मियांदाद के खिलाफ किरण मोरे बार-बार अपील कर रहे थे। जावेद मियांदाद किरण मोरे की अपील से इतने परेशान हो गए कि उन्होंने मोरे के सामने उन्हीं की तरह कूदना शुरू कर दिया। जो क्रिकेट इतिहास में बहुत खास बन गया।

सौरव गांगुली को टीम से किया बाहर

किरण मोरे भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता भी रह चुके हैं। किरण मोरे ने साल 2005-06 में सौरव गांगुली और ग्रैग चैपल के विवाद के बाद सौरव गांगुली को टीम से बाहर कर दिया। सौरव गांगुली से टीम से बाहर करने के फैसले पर किरण मोरे की कड़ी आलोचना की गई। सौरव गांगुली के फैंस के साथ ही भारतीय क्रिकेट टीम के फैंस भी इस बात से काफी निराश थे।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.