Concussion substitute क्या है, प्लेइंग 11 में न होते हुए भी युजवेंद्र चहल ने डाले पूरे ओवर

4 Dec, 2020 16:44 IST|मो. जहांगीर आलम
फोटो : सौ. सोशल मीडिया

कैनबरा :  भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 3 मैच की टी-20 सीरीज का पहला कैनबरा में खेला जा रहा है। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया ने 20 ओवर में 7 विकेट गंवा कर 161 रन बनाए और ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 162 रनों का टारगेट दिया। भारतीय टीम ने रविंद्र जडेजा की जगह युजवेंद्र चहल को कन्कशन सब्स्टीटयूट (Concussion Substitute) के तौर पर उतारा और उन्होंने गेंदबाजी भी की। 

 युजवेंद्र चहल, जो शुरू में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टी 20 आई के लिए नहीं चुने गए थे, उन्हें दूसरी पारी के लिए रवींद्र जडेजा के लिए एक विकल्प के रूप में लाया गया। इस निर्णय पर ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर खुश नजर नहीं आए। वह मैच रेफरी के साथ बहस करते नजर आए। जब ऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ऑस्ट्रेलिया के लिए मिले लक्ष्य का पीछा करने की शुरुआत करने जा रहे थे।

Concussion substitute क्या है?

नियम के मुताबिक अगर कोई खिलाड़ी मैच के दौरान चोटिल होता है तो उसकी जगह दूसरा खिलाड़ी ले सकता है। वह बल्लेबाजी, गेंदबाजी और विकेटकीपिंग भी कर सकता है। ऐसे खिलाड़ियों को कन्कशन सब्स्टिट्यूट कहा जाएगा। कन्कशन सब्स्टिट्यूट को मैदान पर उतारने का फैसला मैच रेफरी का होता है। लेकिन सबसे अहम बात यह है कि वह खिलाड़ी तभी ले सकता है जब खिलाड़ी के हेलमेट पर चोट लगी हो। 

इसे भी पढ़ें :

घायल शेर की तरह और घातक हुए रवींद्र जडेजा, 50वें मैच में खेली टी20 की सर्वश्रेष्ठ पारी

आप को बता दें कि जडेजा ने भारत के लिए नाबाद 44 रन बनाए और उन्हें पहले बल्लेबाजी करते हुए 161/7 बल्लेबाजी करने में मदद की, लेकिन मिशेल स्टार्क के अंतिम ओवर में जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव आ गया। इसके बावजूद उन्होंने बल्लेबाजी जारी रखी। फिलहाल, बीसीसीआई द्वारा पुष्टि की गई मेडिकल टीम द्वारा इसका आकलन किया जा रहा है। 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.