धोनी-कोहली तक नहीं जड़ सके जो शतक, इशांत शर्मा अहमदाबाद टेस्‍ट में लगाएंगे वो सेंचुरी

22 Feb, 2021 20:07 IST|मो. जहांगीर आलम
इशांत शर्मा ( फोटो : सौ. सोशल मीडिया)

नई दिल्ली : अनुभवी भारतीय तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा (Ishant Sharma) बुधवार से इंग्लैंड (England) के साथ शुरू अहमदाबाद (Ahmedabad) के सरदार पटेल स्टेडियम (Sardar Patel Gujarat Stadium) में होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में मैदान पर उतरने के साथ ही कपिल देव (Kapil Dev) के बाद 100 टेस्ट मैच खेलने वाले दूसरे भारतीय तेज गेंदबाज (Indian Fast Bowler) बन जाएंगे।

भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा टेस्ट बुधवार से खेला जाएगा, जोकि डे-नाइट टेस्ट (Day-Night Test) मैच होगा। इस स्टेडियम की क्षमता 1 लाख 10 हजार है और यह अब दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम बन चुका है। इसी स्टेडियम में भारत के सर्वकालिक महान टेस्ट गेंदबाज अनिल कुम्बले ने भी अपना 100वां टेस्ट खेला था।

ईशांत ने कहा है कि एक ही फॉर्मेट में खेलने से उनके लिए तेजी से 100 टेस्ट मैच खेलने की उपलब्धि तक पहुंचना आसान हुआ है। हालांकि उन्होंने साथ ही कि बतौर तेज गेंदबाज कपिल देव के 131 टेस्ट मैच खेलने के रिकॉर्ड की बराबरी करने पर फिलहाल उनका ध्यान नहीं है।

ईशांत ने सोमवार को मीडिया से कहा, " अगर आप इसे सकारात्मक रूप में सोचेंगे तो आपके लिए यह और आसान और बेहतर होगा। एक ही फॉर्मेट में खेलते रहने से 100 टेस्ट तक पहुंचने में आसानी हुई है। लेकिन मैं नहीं सोचता कि अगर मैं सीमित ओवरों के क्रिकेट में खेलता तो मैं 100 टेस्ट मैच नहीं खेल पाता। मैं अभी केवल 32 साल का ही हूं। मैं आगे और बेहतर प्रदर्शन करूंगा।"

ईशांत के पास आस्ट्रेलिया दौरे पर ही 100 टेस्ट मैच खेलने का मौका था, लेकिन पिछले साल आईपीएल में मांसपेशियों में खिंचाव के कारण वह आस्ट्रेलिया दौरे पर नहीं जा सके थे। उन्होंने कहा कि इससे वह निराश नहीं हुए हैं।

ईशांत ने कहा, " मैं आस्ट्रेलिया दौरे पर ही अपना 100 टेस्ट मैच पूरा करना पसंद करता। लेकिन कई चीजें थी, जोकि मेरे हाथ में नहीं है। चोट के कारण मैं आस्ट्रेलिया नहीं जा सका। अब उन चीजों को जल्द से जल्द भूलकर आगे बढ़ना चाहता हूं, इससे आपके जीवन में दूसरी चीजें आसान हो जाती है। यही मैंने अपने करियर में सीखा है। बीते बातों को भूलकर आगे बढ़ो। अब मेरा ध्यान अगले मैच पर है।"

तेज गेंदबाज ईशांत ने पिछले तीन साल से टेस्ट में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उन्होंने 2018 से लेकर अब तक 20 टेस्ट मैचों में 76 विकेट लिए हैं और इस दौरान उन्होंने चार बार पांच विकेट लिए हैं। ईशांत अब तक 11 बार पांच विकेट ले चुके हैं। उन्होंने अब तक 99 टेस्ट मैचों में 302 विकेट लिए हैं।

भारत के लिए सर्वाधिक टेस्ट खेलने वाले तेज गेंदबाजों में कपिल देव (1978-1994), 131 टेस्ट पहले स्थान पर हैं। कपिल ने अपने करियर में कुल 434 विकेट लिए हैं। इशके बाद इशांत का नाम है। तीसरे स्थान पर जहीर खान हैं, जो 2000 से 2014 के बीच 92 टेस्ट मैचों में खेले थे। जहीर ने कुल 311 विकेट लिए हैं। इस क्रम में चौथे स्थान पर जवागल श्रीनाथ, हैं, जिन्होंने 1991 से 1992 के बीच कुल 67 टेस्ट मैचों में खेलते हुए 231 विकेट हासिल किए थे।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.