घायल शेर की तरह और घातक हुए रवींद्र जडेजा, 50वें मैच में खेली टी20 की सर्वश्रेष्ठ पारी

4 Dec, 2020 16:27 IST|मो. जहांगीर आलम

कैनबरा : ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में हार्दिक पांड्या के साथ मिलकर टीम इंडिया को मुश्किल से उबारकर जीत दिलाने वाले रवींद्र जडेजा ने टी20 सीरीज में भी धमाकेदार आगाज किया। शुक्रवार को कैनबरा में खेले गए तीन मैच की सीरीज के पहले मैच में भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। 

जहां केएल राहुल कुछ देर तक एक छोर थामे रहे। वहीं दूसरी छोर से से लगातार विकेट गिरते रहे। राहुल ने 40 गेंद में 51 रन की पारी खेली।  जब केएल राहुल आउट हुए तब भारतीय टीम का स्कोर 13.4 ओवर में केवल 92 रन था। 

ऐसे में एक बार फिर टीम को संकट से उबारने की जिम्मेदारी हार्दिक पांड्या और रवींद्र जडेजा की जोड़ी पर आ गई। लेकिन इस बार हार्दिक पांड्या ज्यादा देर तक जडेजा का  साथ नहीं दे सके और 17वें ओवर की पांचवीं गेंद पर 114 के स्कोर पर 16(15) रन बनाकर पवेलियन लौट गए। 

ऐसे में करियर का 50वां अंतरराष्ट्रीय टी20 मैच खेल रहे जडेजा ने वाशिंगटन सुंदर के साथ मोर्चा संभाला और टीम इंडिया को 20 ओवर में 7 विकेट पर 161 रन तक पहुंचा दिया। जडेजा 23 गेंद में नाबाद 44 रन की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 5 चौके और 1 छक्का जड़ा। यह टी 20 में उनकी सर्वाधिक रन था। इससे पहले उन्होंने सबसे ज्यादा 25 रन बनाए थे इस दौरान उनके बल्ले से 7 चौके और 5 छक्के निकले थे। 

जांघ की मांसपेशियों में आया खिंचाव

पांड्या के आउट होने के बाद जडेजा की जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव आ गया। ऐसे में लगा कि चोटिल जडेजा ज्यादा कुछ नहीं कर पाएंगे लेकिन वो इसके बाद वो घायल शेर की तरह और ज्यादा घातक हो गए। उन्होंने धमाकेदार अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए जोश हेजलवुड के एक ओवर में तीन चौके और एक छक्के सहित कुल 23 रन जोड़े और भारत को 150 रन के पार पहुंचा दिया। 

जडेजा ने अपने जोन में आई गेंदों को सीमारेखा के पार पहुंचाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी और पिच पर भागकर भी लगातार रन लेते रहे। 

इसे भी पढ़ें :

Concussion substitute क्या है, प्लेइंग 11 में न होते हुए भी युजवेंद्र चहल ने डाले पूरे ओवर

AUS Vs IND : ऑस्ट्रेलिया की धमाकेदार शुरुआत, फिंच और डार्सी शॉर्ट क्रीज पर मौजूद

 50 टी20 खेलने वाले बने आठवें भारतीय

रवींद्र जडेजा भारत के लिए 50 अंतरराष्ट्रीय टी20 मैच खेलने वाले आठवें खिलाड़ी हैं। उनसे पहले रोहित शर्मा(108), एमएस धोनी(90), विराट कोहली(82), सुरेश रैना(78), शिखर धवन(61), युवराज सिंह(58) और जसप्रीत बुमराह(50) ये उपलब्धि हासिल कर चुके हैं।

Related Tweets
Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.