वैलेंटाइन के 'टेडी डे' पर वरंगल के खास 'मैस्कॉट' को लोग कर रहे याद

8 Feb, 2021 19:57 IST|विजय कुमार
कॉन्सेप्ट इमेज

वरंगल: वैलेंटाइन डे (Valentine Day) को लेकर तेलंगाना (Telangana) के लोग भी काफी उत्साहित हैं। 10 फरवरी को 'टेडी डे' (Teddy Day) मनाया जा रहा है। वास्तव में प्रेमी प्रेमिकाओं के लिए टेडी के जरिये अपनी भावनाएं व्यक्त करना बेहद खास होता है। इस दिन कपल्स अपने पार्टनर को खुश करने के लिए टेडी गिफ्ट करते हैं। खासकर लड़कियों को टेडी बेहद पसंद होता है। वहीं टेडी को लेकर वरंगल (Warangal) में एक खास किस्सा इन दिनों चर्चा में है। 

वैलेंटाइन पर टेडी की धूम है, ऐसे में वरंगल के लोगों को खास टेडी की याद आ रही है। पिछले साल अप्रैल महीने के दौरान जब पूरी दुनिया लॉक डाउन की त्रासदी से जूझ रही थी। उसी समय ग्रेटर वरंगल म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन में काम करने वाले एक सफाईकर्मी को कचरे के ढेर में खूबसूरत टेडी दिखी। उसने टेडी को कचरे के ढेर से उठा लिया और अपनी कूड़े से लदी गाड़ी पर अच्छे से लगा लिया। सफाईकर्मी ने टेडी के हाथ में कोरोना वायरस से जुड़ी जागरूकता वाली एक तख्ती थमा दी। फिर ये गाड़ी जहां जहां घूमती, वहीं लोग कौतूहल के साथ टेडी को निहारते और कोरोना संक्रमण के खतरों से दो चार होते रहे।  टेडी कहीं न कहीं अपनों के प्रति प्यार और सुरक्षा का संदेश दे रहा था। वास्तव में देखा जाय तो वैलेंटाइन डे पर भी टेडी कुछ ऐसा ही संदेश देता है। 

वरंगल म्यूनिसिपल कर्मचारी का अनूठा प्रयोग

वरंगल म्यूनीसिपल कॉर्पोरेशन के कर्मचारी जब लॉकडाउन के लिए कोई खास इलाका सील करने जाते, तो गाड़ी पर वही कचरे में मिली डेटी को लेकर जाते। भारी मुश्किल के वक्त भी टेडी को देखकर लोगों के चेहरे पर हल्की मुस्कान खिंच जाती। धीरे धीरे वरंगल में कोरोना संक्रमण के काल में ये टेडी बेहद लोकप्रिय हुआ। 

कचरे के ढेर से टेडी बीयर उठाकर उसे पोपुलर करने वाले सफाईकर्मी का नाम वीरा स्वामी है। वीरा ने बताया कि बेहद खूबसूरत टेडी को कचरे में देखना उसे अच्छा नहीं लगा था। टेडी को देखते ही वीरा को आइडिया आया कि इसके जरिये वो कोरना संक्रमण के प्रति लोगों को जागरूक कर सकता है। जब वीरा की गाड़ी पर ये टेडी वरंगल की सड़कों पर घूमता तो बच्चों के साथ ही बुजुर्गों के आकर्षण का भी केंद्र बनता। साथ ही लोगों को एहतियात बरतने की सीख देता जाता। 

वरंगल में आज कोरोना संक्रमण का खतरा कम हुआ है और लोगों ने राहत की सांस ली है। यहां के युवा खुशी खुशी वैलेंटाइन पर आगामी 10 फरवरी को टेडी मनाने की तैयारी कर रहे हैं। इस दिन वो बेहद संजीदगी के साथ संक्रमण के उस दौर की टेडी को भी याद कर रहे हैं। साथ ही अपने प्रेमी या प्रेमिका को ऐसा ही खास संदेश देने वाला टेडी देना पसंद कर रहे हैं। जो किसी अपनों की सुरक्षा और बेहतरी का संदेश देता हो। 

टेडी डे (Teddy Day) की शुरुआत कब से हुई ?

वैलेंटाइन पर टेडी डे का खास महत्व होता है। इसकी शुरुआत नवंबर 1902 की एक कहानी से मानी जाती है। दरअसल एक बार राष्ट्रपति थियोडोर टेडी रूजवेल्ट मिसिसिपी में एक भालू के शिकार में शामिल होने गए थे। इसके बाद शिकारी दल के लोगों ने एक भालू को पकड़ लिया और उसे पेड़ से बांध दिया। फिर राष्ट्रपति से उसका शिकार करने की गुजारिश की। मासूम भालू को देख राष्ट्रपति ने अपना इरादा बदल लिया। उन्होंने मासूम जानवर को मारने से मना कर दिया। माना जाता है कि इसी प्रेम के संदेश के साथ वैलेंटाइन पर टेडी डे की शुरुआत हुई। 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.