राहुल का मोदी पर तंज, किसान सड़क पर और 'झूठ' टीवी पर दे रहा भाषण

1 Dec, 2020 13:35 IST|अंजू वशिष्ठ

कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष ने कसा पीएम मोदी पर तंज 

बोले राहुल गांधी- हम सब पर किसानों का कर्ज 

नई दिल्ली : कृषि कानून को लेकर किसानों के आंदोलन के बीच कांग्रेस (Congress) नेता राहुल गांधी ने बीजेपी सरकार पर अंहकारी होने का आरोप लगाया है। पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने किसानों के प्रदर्शन (Farmers Protest) को लेकर मंगलवार को सरकार पर निशाना साधा और कहा कि उसे अंहकार छोड़कर किसानों को उनका अधिकार देना चाहिए। 

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘अन्नदाता सड़कों-मैदानों में धरना दे रहे हैं और ‘झूठ' टीवी पर भाषण। किसान की मेहनत का हम सब पर क़र्ज़ है। ये क़र्ज़ उन्हें न्याय और हक़ देकर ही उतरेगा, न कि उन्हें दुत्कार कर, लाठियां मारकर और आंसू गैस चलाकर।'' कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘जागिए, अहंकार की कुर्सी से उतरकर सोचिए और किसान का अधिकार दीजिए।'' 

मोदी सरकार पर साधा निशाना

इससे पहले सोमवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने वीडियो मैसेज जारी किया था। उसमें उन्होंने कहा कि देशभक्ति देश की शक्ति की रक्षा होती है, देश की शक्ति किसान हैं। 

राहुल गांधी ने कहा, 'ये कानून नरेंद्र मोदी जी के दो-तीन मित्रों के लिए है। ये कानून किसान से चोरी करने का कानून है, और इसलिए हम सबको मिलकर हिंदुस्तान की शक्ति के साथ खड़ा होना पड़ेगा, किसान के साथ खड़ा होना पड़ेगा। राहुल गांधी ने कहा कि जहां भी ये किसान भाई हैं, वहां जनता को, कांग्रेस कार्यकर्ताओं को आगे बढ़कर इनकी मदद करनी चाहिए, इनको भोजन देना चाहिए और इनके साथ खड़ा होना चाहिए।

किसान बातचीत के लिए तैयार

गौरतलब है कि नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमा पर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने केंद्र के वार्ता के प्रस्ताव पर चर्चा करने के लिए मंगलवार को एक बैठक बुलाई है। नए कृषि कानूनों के खिलाफ हजारों किसान दिल्ली से लगे सीमाओं पर मंगलवार को लगातार छठे दिन डटे हुए हैं। किसानों को आशंका है कि इन कानूनों के कारण न्यूनतम समर्थन मूल्य समाप्त हो जाएगा।

इसे भी पढ़ें: 

पीएम मोदी के अहंकार ने जवान को किसान के खिलाफ खड़ा कर दिया- राहुल गांधी

किसान संगठनों ने आखिरकार ये तय कर लिया है कि वो बैठक में हिस्सा लेंगे। दिल्ली में सुबह सिंधु बॉर्डर पर 32 किसान संगठनों की बैठक हुई, जिसमें सरकार के प्रस्ताव पर मंथन हुआ। किसानों की ये बैठक तीन घंटे चली, जिसमें सरकार के साथ वार्ता करने पर सहमति बनी है।

Related Tweets
Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.