ओपी धनखड़ के हाथ हरियाणा की कमान, भाजपा की जातिगत समीकरण साधने की कोशिश

19 Jul, 2020 20:33 IST|Sakshi
हरियाणा भाजपा अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ (फाइल फोटो)

ओपी धनखड़ हरियाणा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नियुक्त

भाजपा की जातिगत समीकरणों को संतुलित करने की कोशिश

चंडीगढ़/नई दिल्ली : भाजपा ने रविवार को हरियाणा सरकार के पूर्व मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ को पार्टी की प्रदेश इकाई का अध्यक्ष नियुक्त किया। वह सुभाष बराला की जगह लेंगे। जाट समुदाय से आने वाले धनखड़ को प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त करने को राज्य में जातिगत समीकरणों को संतुलित करने के प्रयास के रूप में भी देखा जा रहा है, जहां राजनीति जाटों और गैर-जाटों के इर्द-गिर्द घूमती है।

भाजपा महासचिव अरूण सिंह ने कहा, ‘‘भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पूर्व मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ को हरियाणा प्रदेश भाजपा का अध्यक्ष नियुक्त किया है। यह नियुक्ति तत्काल प्रभाव से लागू होगी।'' पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के स्थान पर उनकी नियुक्ति हुई है। बराला का कार्यकाल पहले ही समाप्त हो चुका था। राज्य विधानसभा चुनाव के बाद से ही पार्टी उनके विकल्प की तलाश कर रही थी। 

जाट समुदाय से आने वाले धनखड़ को प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त करने को राज्य में जातिगत समीकरणों को संतुलित करने के प्रयास के रूप में भी देखा जा रहा है, जहां राजनीति जाटों और गैर-जाटों के इर्द-गिर्द घूमती है। राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर गैर जाट समुदाय से आते हैं। हालांकि, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बराला भी जाट समुदाय से ही थे। साल 2014 के हरियाणा विधानसभा चुनाव में भाजपा को पहली बार अपने दम पर बहुमत मिला। पांच साल बाद पार्टी फिर सत्ता में तो लौटी लेकिन इस बार वह बहुमत के आंकड़े से दूर रह गई। 

जननायक जनता पार्टी के समर्थन से खट्टर एक बार फिर राज्य के मुख्यमंत्री बने। धनखड़ को 2014 में खट्टर सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया था। हालांकि, पिछले विधानसभा चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। बराला भी चुनाव हार गए थे। प्रदेश अध्यक्ष के पद पर अपनी नियुक्ति की घोषणा के बाद धनखड़ ने पार्टी आलाकमान का धन्यवाद किया और कहा कि राज्य में पार्टी को और मजबूत बनाने के लिए वे कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। 

उन्होंने कहा, ‘‘मुझ पर भरोसा जताने के लिए मैं पार्टी आलाकमान का धन्यवाद करता हूं।'' मुख्यमंत्री खट्टर ने भी उन्हें बधाई दी और धनखड़ को पार्टी का समर्पित कार्यकर्ता बताया। खट्टर ने ट्वीट कर विश्वास जताया कि पार्टी कार्यकर्ताओं को धनखड़ के लंबे राजनीतिक अनुभवों का लाभ मिलेगा और उनकी नियुक्ति से प्रदेश संगठन को और मजबूती मिलेगी। 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक लंबी चर्चा और शीर्ष स्तर पर विचार विमर्श के बाद इस पद पर धनखड़ की नियुक्ति को हरी झंडी दी गई है। अन्य किसी नाम पर सहमति नहीं बन सकी। उनके अलावा राज्य के पूर्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यू भी प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में थे। हालांकि, केंद्रीय मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर का नाम भी इस पद के लिए चर्चा में था। 

सूत्रों के मुताबिक नए प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति के सिलसिले में खट्टर ने हाल ही में नड्डा से मुलाकात की थी। भाजपा किसान मोर्चा के दो बार राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे धनखड़ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के राष्ट्रीय समन्वयक भी रहे हैं। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में धनखड़ ने तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बेटे दीपेंद्र सिंह हुड्डा के खिलाफ रोहतक से चुनाव लड़ा था। हालांकि, वह हार गए थे।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.