महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा का बयान, ऐतिहासिक नहीं हमारे लिए काला दिन है 5 अगस्त

1 Aug, 2020 15:04 IST|अनूप कुमार मिश्रा
इल्तिजा मुफ्ती (फाइल फोटो)

5 अगस्त को है अयोध्या में राम मंदिर का भूमि पूजन

महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा ने बताया काला दिन

महबूबा मुफ्ती की हिरासत को केंद्र सरकार ने तीन महीने बढ़ाया

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा मुफ्ती ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला बोला है। इल्तिजा मुफ्ती ने कहा कि खौफ का ऐसा माहौल है कि यहां किसी को बोलने की आजादी नहीं है। राम मंदिर भूमि पूजन पर उन्होंने कहा कि 5 अगस्त को हमारे लिए काला दिन है।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की हिरासत को केंद्र सरकार ने शुक्रवार को तीन महीने तक के लिए और बढ़ा दिया है। केंद्र ने उन्हें जन सुरक्षा कानून के तहत नजरबंद रखा है। साल 2019 में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के समय से महबूबा मुफ्ती हिरासत में हैं।

एक न्यूज चैलन से बातचीत में मुफ्ती की बेटी इल्तिजा ने कहा कि पांच अगस्त का दिन हमारे लिए ऐतिहासिक नहीं बल्कि काला दिन है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के एक साल पूरा होने से पहले यह बयान दिया है। उन्होंने कहा कि पता नहीं क्यों सरकार ने मेरी मां को कैद करके रखा है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के खिलाफ सामूहिक संघर्ष की जरूरत है।

ओवैसी ने मोदी के जाने पर उठाए थे सवाल

एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने रामलला मंदिर के शिलान्यास के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यात्रा का विरोध किया है। ओवैसी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का रामलला मंदिर के लिए अयोध्या दौरे पर जाना प्रधानमंत्री के संवैधानिक शपथ का उल्लंघन होगा। देश के संविधान का अहम हिस्सा है धर्मनिरपेक्षता।

ओवैसी ने ट्वीट कर कहा, ‘’आधिकारिक रूप से भूमि पूजन में शामिल होना पीएम की संवैधानिक शपथ का उल्लंघन होगा. धर्मनिरपेक्षता संविधान की मूल संरचना का हिस्सा है। हम यह नहीं भूल सकते कि बाबरी 400 साल से ज्यादा समय तक अयोध्या में रही और 1992 में आपराधिक भीड़ द्वारा इसे ध्वस्त कर दिया गया।’’

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.