डीएम के खिलाफ धरना देने वाले एसडीएम हुए सस्पेंड, अधिकारियों पर लगाया था भ्रष्टाचार का आरोप

25 Sep, 2020 20:44 IST|अनूप कुमार मिश्रा
धरने पर बैठे अतिरिक्त एसडीएम विनीत उपाध्याय

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ की घटना

डीएम के खिलाफ धरने पर बैठे एसडीएम

लालगंज में पट्टा आवंटन मामले में भ्रष्टाचार से नाराज अधिकारी

प्रतापगढ़ : जब एक अधिकारी को दूसरे अधिकारियों के भ्रष्टाचार को उजागर करने के लिए धरने पर बैठना पड़े तो इससे बड़ी हैरानी की बात क्या होगी। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में देखने को मिला है। यहां पर जिलाधिकारी के साथ ही दो एसडीएम पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाने वाले अतिरिक्त एसडीएम को धरना पर बैठना पड़ा। हालांकि शाम होने तक उन्हें सस्पेंड कर दिया गया।

जानकारी के मुताबिक, प्रतापगढ़ के जिलाधिकारी के साथ ही दो एसडीएम पर गंभीर आरोप लगाकर शुक्रवार को एक अतिरिक्त एसडीएम अपनी पत्नी के साथ डीएम के सरकारी बंगले में धरने पर बैठ गए। अतिरिक्त एसडीएम विनीत उपाध्याय का धरना करीब चार घंटे चला, जिसे बाद में कार्रवाई के आश्वासन के बाद समाप्त कर दिया गया। शाम को खबर आई की उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है।

अतिरिक्त एसडीएम विनीत उपाध्याय शुक्रवार को डीएम कैंप कार्यालय पहुंचे। उन्होंने डीएम डॉक्टर रूपेश कुमार, एडीएम शत्रोहन वैश्य और लालगंज के पूर्व एसडीएम मोहनलाल गुप्ता पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए।  इसके साथ ही लालगंज के एक कॉलेज प्रबंधक के फर्जीवाड़े को दबाने का आरोप भी एसडीएम ने डीएम और एडीएम पर लगाया। 

विनीत उपाध्याय का कहना है कि डीएम समेत तीनों अधिकारी भ्रष्टाचार कर रहे हैं। इसके साथ ही मातहतों के भ्रष्टाचार को दबाने के प्रयास में हैं। लालगंज में पट्टा आवंटन मामले में भ्रष्टाचार से नाराज विनीत उपाध्याय को डीएम की तरफ से पूरे प्रकरण की जांच कराने का आश्वासन मिला। इसके बाद वह पत्नी के साथ धरना से उठ गए। 
 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.