अतीक व आजम के बाद मुख्तार पर सरकार का शिकंजा, दोनों बेटे उमर और अब्बास इनामी अपराधी घोषित

16 Sep, 2020 09:42 IST|Sakshi
फोटो : सौ. सोशल मीडिया

मुख्तार गिरोह की आय बंद

पत्नी और उनके भाइयों पर लगा गैंगस्टर

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के बाहुबली मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों पर योगी सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। लखनऊ के पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों को इनामी अपराधी घोषित कर दिया है। दोनों पर 25-25 हज़ार का इनाम घोषित किया गया है।

पुलिस कमिश्नर की ओर से जारी आदेश के मुताबिक मुख़्तार अंसारी के बेटों उमर और अब्बास के खिलाफ कुछ दिन पहले अवैध कब्जे के मामले में एफआईआर हुई थी। लखनऊ में उनके अवैध कब्जे वाली दो इमारतों को ढहा भी दिया गया था।

इस मामले में जियामऊ के लेखपाल सुरजन लाल ने मुख्तार अंसारी और उनके बेटे उमर व अब्बास के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में जालसाजी, साजिश रचने, जमीन पर अवैध कब्जा करने के आरोप में केस दर्ज कराया था। सुरजन लाल का आरोप था कि जिस जमीन पर मुख्तार के बेटों ने टॉवर बनवाए थे, वह मो. वसीम की थी। वसीम 1952 में पाकिस्तान चले गए थे। 

पत्नी और उनके भाइयों पर लगा गैंगस्टर

करोड़ों रुपये की अनाधिकृत जमीन से कब्जा हटवाने के बाद प्रशासन ने मुख्तार अंसारी की पत्नी आफसा अंसारी व उनके साले सरजील रजा और अनवर शहजाद पर गैंगस्टर की कार्रवाई की है। मुख्तार के साथ मिलकर सभी संगठित आपराधिक गिरोह के रूप में अपराध करते है। सभी के खिलाफ गाजिपुर कोतवाली में गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

मुख्तार गिरोह की आय बंद

पुलिस ने मुख्तार अंसारी और उनके गिरोह के आर्थिक साम्राज्य पर गहरी चोट की है। अब तक की कार्रवाई में मुख्तार गिरोह की सालाना 48 करोड़ रुपये की आय बंद की जा चुकी है। पुलिस ने वाराणसी जोन के अलग-अलग जिलों में प्रतिबंधित मछली कारोबार, स्टोरेज, गिरोह बनाकर वसूली, कोयला कारोबार, बूचड़खाना समेत अन्य अवैध धंधों पर अंकुश लगाकर तगड़ी चोट दी है। पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक मुख्तार गैंग को मछली कारोबार से ही करीब 33 करोड़ रुपये की सालाना आय होती थी। बाकी आय दूसरे अवैध कार्यों से होती थी।
 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.