किसानों का प्रदर्शन जारी रहने से दिल्ली के बॉर्डर सील, आने-जाने के सिर्फ ये रास्ते खुले

2 Dec, 2020 08:24 IST|अंजू वशिष्ठ

नोएडा लिंक रोड पर ट्रैफिक बंद

दिल्ली पुलिस ने कई बॉर्डर को किया बंद

दिल्ली कूच की तैयारी में किसानों का प्रदर्शन

नई दिल्ली: राजधानी के सभी बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) अभी भी जारी है। किसान सरकार से कृषि कानूनों (Agriculture Laws) को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। सैंकडों की संख्या में किसान दिल्ली की सीमाओं (Delhi Border) पर धरने पर बैठे हुए हैं। जिससे दिल्ली आने-जाने वाले रास्ते बाधित हो गए हैं। किसानों द्वारा जाम की गई दिल्ली की सड़कों पर किसानों की तादाद बढ़ने वाली है, जिससे दिल्ली के लोगों की मुसीबतें भी बढ़ जाएंगी।

किसान आंदोलन को देखते हुए आज उत्तर रेलवे (Northern Railway) ने भी कई ट्रेन रद्द कर दी है। पिछले 7 दिनों से दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी है। पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश समेत कई प्रदेशों के किसान दिल्ली कूच की तैयारी में है। इस वजह से दिल्ली के बॉर्डर बंद कर दिए गए हैं। बॉर्डर बंद होने के कारण लोगों को काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। 

हरियाणा जाने के लिए रूट बदले
पंजाब-हरियाणा से आए किसानों ने सिंघू बॉर्डर पर डेरा जमाया हुआ है। दिल्ली में दाखिल होने वाले दो रास्ते सिंधु-टिकरी (Indus-Tikri) बॉर्डर पूरी तरह से सील हो चुके हैं। जिससे दिल्ली से हरियाणा जाने के लिए दिल्ली पुलिस ने ट्रैफिक एडवाइजरी जारी की है। दिल्ली से हरियाणा में धनसा, दौराला, कापसहेड़ा, राजोकरी एनएच-8, बिजवासन/बाजघेरा, पालम विहार और दुंदाहेरा बॉर्डर से जाया जा सकता है। 

लामपुर, औचंडी समेत कई छोटे बॉर्डर को भी बंद कर दिया गया है। दिल्ली पुलिस ने कहा कि किसानों के आंदोलन के चलते जिन बॉर्डर को बंद किया गया है, उसके अलावा बाकी रूट से आवागमन करें। सिंधु बॉर्डर के ट्रैफिक को मुकरबा चौके और जीटीके रोड की ओर डायवर्ट किया गया है।

नोएडा नौकरी के लिए जाने में होगी परेशानी
कृषि कानून के विरोध में जारी आंदोलन में भाग लेने के लिए भारतीय किसान यूनियन (भानु) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर भानु प्रताप सिंह के नेतृत्व में मंगलवार शाम को सैकड़ों की संख्या में किसान चिल्ला बॉर्डर पर पहुंचे जहां दिल्ली पुलिस ने अवरोधक लगाकर उन्हें रोक दिया। किसान मुख्य मार्ग पर ही धरने पर बैठ गए हैं।

किसानों द्वारा चिल्ला बॉर्डर पर जाम लगाए जाने से लाखों लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जहां किसानों ने जाम लगाया है, वहां से होकर प्रतिदिन लाखों की संख्या में लोग नोएडा में नौकरी करने आते-जाते हैं। चिल्ला बॉर्डर सीधे नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे और आगरा एक्सप्रेस-वे को भी जोड़ता है। 

ये रास्ते किए गए बंद
ये बॉर्डर वाया गोलचक्कर डीएससी रोड को जोड़ता है। इससे मंगलवार शाम दिल्ली व नोएडा में करीब पांच किलोमीटर का लंबा जाम लग गया। वहीं, जाम से बचने के लिए पुलिस ने यात्रियों को नोएडा जाने के लिए वैकल्पिक मार्ग का सहारा लेने की सलाह दी है। उधर, टिकरी बॉर्डर, झारुडा बॉर्डर, झटीकरा बॉर्डर को बाकी यातायात आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया है। बडूसराय बार्डर केवल दो पहिया वाहनों के आवागमन के लिए खुला है।

जारी रहेगा किसान आंदोलन 
किसानों की मांगों को लेकर मंगलवार को सरकार और किसान नेताओं की बातचीत हुई थी। दोपहर 3 बजे शुरू हुई ये बैठक करीब 7 बजे खत्म हुई। सरकार ने किसानों को समझाने की कोशिश की, लेकिन वे अपनी मांगों पर अब भी अड़े हैं। बैठक के बाद एक किसान नेता ने तो यहां तक कहा कि हम सरकार से कुछ तो जरूर वापस लेंगे, चाहे वो बुलेट हो या शांतिपूर्ण समाधान। 

इसे भी पढ़ें :

और उग्र होगा किसानों का आंदोलन, सरकार से बातचीत बेनतीजा

सरकार के साथ बातचीत का हिस्सा रहे किसान नेता चंदा सिंह ने कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ हमारा आंदोलन जारी रहेगा। हम सरकार से कुछ तो जरूर वापस लेंगे, चाहे वो बुलेट हो या शांतिपूर्ण समाधान। उन्होंने कहा कि हम बातचीत के लिए फिर आएंगे।

रेलवे ने रद्द की ये ट्रेन

किसान आंदोलन के कारण जारी रहने के कारण रेलवे ने कुछ ट्रेनों को रद करने का निर्णय लिया है। अजमेर से पंजाब की ओर जाने वाली ट्रेन को रद्द कर दिया गया है। वहीं, कुछ ट्रेनों के रूट बदल दिए हैं। 

  • 09613 अजमेर-अमृतसर एक्सप्रेस 2 दिसंबर से शुरू होने वाली विशेष ट्रेन की यात्रा रद रहेगी।
  • 3 दिसंबर को चलने वाली 09612 अमृतसर-अजमेर स्पेशल ट्रेन भी रद रहेगी।
  • 05211 डिब्रूगढ़- अमृतसर एक्सप्रेस 3 दिसंबर से शुरू होने वाली विशेष ट्रेन रद रहेगी।
  • 3 दिसंबर को शुरू होने वाली 05212 अमृतसर-डिब्रूगढ़ स्पेशल ट्रेन भी रद्द रहेगी
  • 04998/04997 भटिंडा-वाराणसी-भटिंडा एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन अगले आदेश तक रद रहेगी।
  • 02715 नांदेड़ से 2 दिसंबर से शुरू होने वाली अमृतसर एक्सप्रेस को नई दिल्ली में समाप्त किया जाएगा।
  • 08216 जम्मू तवी से दुर्ग एक्सप्रेस की शुरुआत 4 दिसंबर को पठानकोट कैंट-जालंधर कैंट-लुधियाना के रास्ते चलाई जाएगी।
  • 08215 दुर्ग से जम्मू तवी एक्सप्रेस की शुरुआत 2 दिसंबर को लुधियाना जलंधर कैंट-पठानकोट छावनी के रास्ते से चलाई जाएगी।
  • 04650/74 अमृतसर से 2 दिसंबर को शुरू होने वाली जयनगर एक्सप्रेस को अमृतसर-तरनतारन-ब्यास के रास्ते चलाने के लिए डायवर्ट किया जाएगा।
Related Tweets
Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.