कभी आतंकवाद का गढ़ रहे लाल चौक पर रम्यसा ने लहराया तिरंगा, जानिए कौन हैं ये

5 Aug, 2020 12:09 IST|Sakshi
रम्यसा रफीक

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटे आज एक साल पूरा हो गया है। इस एक साल में जम्मू-कश्मीर में क्या-क्या बदला है उसकी एक बानगी यह तस्वीर भी है। कभी आतंक और अलगाववाद का गढ़ बन चुके अनंतनाग के लाल चौक पर आज देश का तिरंगा बेखौफ माहौल में फहराया गया। भाजपा की कार्यकर्ता रम्यसा रफीक की यह तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही हैं। रम्यसा बुधवार सुबह हाथ में तिरंगा लिए लाल चौक पहुंचीं और काफी देर तक यहां तिरंगा लहराती रहीं। 

आप को बता दें कि केंद्र सरकार ने पिछले साल 5 अगस्त को ही जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करके आलगाववाद की जड़ें काट दी थीं। अनंतनाग के लाल चौक पर अक्सर अलगाववादी लोगों को भड़काकर पत्थरबाजी कराया करते थे। लेकिन पिछले एक साल में इन घटनाओं में कमी आई है। साथ ही सुरक्षाबलों ने आतंकवाद पर भी बड़ा प्रहार किया है और इस साल कई बड़े आतंकी मौत के घाट उतार दिए गए।

सुरक्षा बल से जुड़े एक अधिकारी के अनुसार घाटी के बड़े हिस्से में एक बड़ा बदलाव ये महसूस किया जा रहा है कि स्थानीय लोग आतंकवाद पर कार्रवाई का विरोध नही करते। बुरहान वानी की तरह आतंकियों को हीरो बनाने का चलन कम हुआ है। पहले पुलिस की गाड़ी देखते ही पत्थर फेंकने की घटनाएं होती थीं। पुलिस प्रशासन के दावों से इतर स्थानीय लोग भी मानते हैं कि अब ये घटनाएं कम हुई हैं। 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.