राम मंदिर भूमि पूजन : POK से लाई गई पवित्र शारदा पीठ की मिट्टी, इस शख्स ने मिशन को दिया अंजाम !

6 Aug, 2020 21:36 IST|Sakshi
राम मंदिर भूमि पूजन (सभी फोटो सौजन्य सोशल मीडिया)

राम मंदिर भूमि पूजन

POK से लाई गई पवित्र शारदा पीठ की मिट्टी

पूरी तरह से सीक्रेट रहा मिशन हुआ सफल

राम मंदिर भूमि पूजन : अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन सकुशल शुभ मुहूर्त में संपन्न हो गया। जिसके बाद इस अनुष्ठान से जुड़े कई राज अब उजागर हो रहे हैं। राम मंदिर भूमि पूजन में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में स्थित प्रसिद्ध शारदा पीठ की भी मिट्टी मंगाई गई थी। इसके लिए विशेष ऑपरेशन को अंजाम दिया गया था। 

सीक्रेट तरीके से पूरा हुआ मिशन

यह ऑपरेशन चीन से हांगकांग और मुजफ्फराबाद के रास्ते खास ऑपरेशन बेहद सीक्रेट तरीके से चलाया गया था। जिसके बाद पाकिस्तान स्थित अवैध कब्जे वाले भाग में स्थित इस प्रसिद्ध शक्तिपीठ की पवित्र मिट्टी को राम मंदिर की नींव में डालने का कार्य सफल हो पाया। 

आपको बतादें इस महत्वपूर्ण ऑपरेशन की जिम्मेदारी बंगलुरु निवासी अंजना शर्मा को दी गयी थी। अंजना शर्मा का सहयोग किया वेंकटेश रमन ने जो इस वक्त चीन में बस चुके हैं। अहम बात ये कि पीओके में कोई भारतीय नहीं जा सकता है, लेकिन पीओके में चाइनीज पासपोर्ट धारकों को जाने की छूट है। पीओके में चाइनीज पासपोर्ट धारक जा सकते हैं, जब वेंकट रमन से इस बारे में मदद मांगी गई तो उन्होंने हामी भर दी। जिसके बाद इस मुश्किल प्रोजेक्ट को अंजाम दिया । 

हांगकांग के रास्ते से POK की राजधानी मुजफ्फराबाद का पूरा किया सफर

राम मंदिर भूमि पूजन के लिए शारदा पीठ की मिट्टी लाने के लिए वेंकटेश रमन हांगकांग के रास्ते से POK की राजधानी मुजफ्फराबाद पहुंचे, जिसके बाद वहां के पुजारी से संपर्क साध कर वहां की मिट्टी लेकर हांगकांग के रास्ते दिल्ली पहुंच गए । दिल्ली में वेंकटेश रमन ने शारदा पीठ की पवित्र मिट्टी और प्रसाद अंजना शर्मा को सौंप दिया। इसके बाद शर्मा ने अयोध्या जा कर शारदा पीठ की पवित्र मिट्टी और प्रसाद भगवान राममंदिर तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट को दे दी । 

हिन्दुओं का प्राचीन मंदिर है शारदा शक्ति पीठ स्थल

आपको बतादें कि शारदा पीठ मंदिर करीब 5 हजार साल पुराना माना जाता है। इसकी दूरी श्री स्थित उरी से करीब 75 किलोमीटर है जबकि श्रीनगर से लगभग सौ किलोमीटर की दूरी पर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में स्थित है।

यह हिन्दुओं के प्रमुख शक्तिपीठों में से एक है। 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.