राष्ट्रपति का देश के नाम संदेश - अशांति पैदा करने वालों को देंगे माकूल जवाब

14 Aug, 2020 20:19 IST|संजय कुमार बिरादर
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद राष्ट्र को संबोधित करते हुए

कोरोना के खिलाफ विश्व समुदाय को एकजुट होने की जरूरत

गलवान घाटी के बलिदानियों को नमन 

नई दिल्ली : स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शुक्रवार को राज्य के नाम अपने संबोधन में कहा कि हर बार की भांति इस वर्ष स्वतंत्रता दिवस का जश्न देखने को नहीं मिलेगा। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया एक ऐसे घातक कोरोना महामारी से जूझ रही है। 

इस महामारी ने जन-जीवन को भारी नुकसान पहुंचाने के अलावा हर गतिविधि को प्रभावित किया है। उन्होंने अपने संबोधन में पिछले कुछ समय से देश के लिए मुश्किलें पैदा कर रहे चीन को भी संदेश देते हुए कहा कि जो अशांति पैदा करेगा, उसे हर कीमत पर माकूल जवाब दिया जाएगा।

विश्व समुदाय को एकजुट होने की जरूरत

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने चीन का नाम लिए बिना सीमा विवाद का उल्लेख करते हुए कहा कि जहां पूरी दुनिया को कोरोना वायरस से जूझ रही है और ऐसे समय में विश्व समुदाय को एकजुट होकर इस चुनौती से सामना करने की जरूरत है, लेकिन हमारे पड़ोसी अपनी विस्तारवादी गतिविधियों को चालाकी से अंजाम देने का प्रयास कर रहा हैं। उन्होंने कहा कि सीमाओं की रक्षा करते हुए हमारे जांबज जवानों ने अपने प्राण न्योछावर कर दिए।

गलवान घाटी के बलिदानियों को नमन

उन्होंने कहा कि भारत माता के वे सपूत, राष्ट्र गौरव के लिए ही जिए और उसी के लिए मर मिटे। पूरा देश गलवान घाटी के बलिदानियों को नमन करता है। हर भारतवासी के हृदय में उनके परिवार के सदस्यों के प्रति कृतज्ञता का भाव है। उनके शौर्य ने यह दिखा दिया है कि यद्यपि हमारी आस्था शांति में है, फिर भी यदि कोई अशांति उत्पन्न करने की कोशिश करेगा तो उसे माकूल जवाब दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें : 

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर रक्षा मंत्री का बड़ा बयान, बोले- अगर कोई हम पर हमला करता है तो दुश्मन देश को देंगे मुंहतोड़ जवाब

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए हुए भूमिपूजन का जिक्र करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि केवल दस दिन पहले अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का शुभारंभ हुआ है और देशवासियों को गौरव की अनुभूति हुई है।

Related Tweets
Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.