PM मोदी शाम 4 बजे फिर होंगे देश से मुखातिब, लॉकडाउन का एलान तो नहीं?

30 Jun, 2020 07:34 IST|Sakshi
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी शाम 4 बजे करेंगे देश को संबोधित

लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर एलान की आशंका

दो दिन में पीएम का होगा दूसरा संबोधन 

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार शाम 4 बजे एक बार फिर देश से मुखातिब होंगे। अभी रविवार को ही मन की बात में पीएम ने देश को संबोधित किया था। फिर इतनी जल्दी संबोधन को लेकर लोग तरह तरह के कयास लगा रहे हैं। फिलहाल कोरोना वायरस का प्रसार और चीन ही मुद्दा है जिस पर प्रधानमंत्री अपनी बातें देश के सामने रख रहे हैं। 

चीन को लेकर कूटनीतिक और सैन्य वार्ता के प्रयास जारी हैं, लिहाजा इस बात की कम ही उम्मीद लगती है कि प्रधानमंत्री चीन को लेकर खरी खरी बातें जनता के बीच करेंगे। अगर वे ऐसा करते हैं तो जारी वार्ता पर असर पड़ सकता है। अब बचा कोरोना वायरस संक्रमण का मुद्दा। जिस तरह से कोरोना प्रसार हो रहा है वैसे में राज्य सरकारों की तरफ से फिर से लॉकडाउन के एलान की मांगें उठने लगी हैं। उम्मीद की जा रही है कि प्रधानमंत्री इसी लॉकडाउन को लेकर नए दिशानिर्देश दे सकते हैं। साथ ही प्रधानमंत्री कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार की तैयारियों का ब्यौरा भी दे सकते हैं। 

देश का मनोबल बढ़ाएंगे मोदी

पीएम मोदी 30 जून को शाम 4 बजे राष्ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री के पास सकारात्मक कुछ कहने के लिए है नहीं। पूरा देश आशंकाओं से घिरा है। ऐसे में प्रधानमंत्री की कोशिश होगी कि देश का मनोबल बढ़ाया जाय। लिहाजा पीएम लंबी देर तक अपना संबोधन जारी रख सकते हैं। ये जरूर है कि प्रधानमंत्री इस नाजुक मौके पर चीन से तनातनी का जिक्र जरूर करेंगे। अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो विपक्ष के निशाने पर होंगे। जानकार ये भी बताते हैं कि चीन के खिलाफ बहुत अधिक सख्त कहने से प्रधानमंत्री परहेज करेंगे। 

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 'मन की बात' के जरिए देशवासियों को संबोधित किया था। जिसमें उन्होंने कई मुद्दों को छुआ। कोरोना, तूफान, टिड्डी हमला, लद्दाख जैसे विषयों पर उन्होंने लोगों को दिलासा दिया। मन की बात प्रधानमंत्री का निर्धारित संबोधन कार्यक्रम है। देखा गया है कि जब भी पीएम गैर निर्धारित कार्यक्रम में संबोधित करते हैं तो कुछ बड़ा कहते हैं। 

दो दिन में दूसरा संबोधन

'मन की बात' में ही पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के संकट काल में देश लॉकडाउन से बाहर निकल चुका है। अब दो दिन बाद ही लॉकडाउन का एलान करने के औचित्य को पीएम को समझाना होगा। कोरोना महामारी के चलते अर्थव्यवस्था को हुए नुकसान पर भी पीएम मोदी अपनी बातें रख सकते हैं। 

भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या करीब साढ़े पांच लाख हो चुकी है। 16 हजार से अधिक लोगों की मौत भी हो चुकी है। लोगों की नौकरियां जा रही हैं। काम धंधे बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। ऐसे में केंद्र हो या राज्य सरकार, इनकी बड़ी जिम्मेदारी बन जाती है। अब पीएम के संबोधन के बाद ही बड़ा खुलासा हो सकेगा। 
 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.