पीएम मोदी का राष्ट्र के नाम संदेश-लॉकडाउन भले ही चला गया हो, लेकिन अभी नहीं गया है कोरोना वायरस

20 Oct, 2020 14:02 IST|Sakshi
पीएम मोदी

कई वैक्सीन पर चल रहा है काम

नागरिकों का जीवन बचाने में सफल रहा

नई दिल्ली : कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को संबोधित कर रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि समय के साथ आर्थिक तेजी आ रही है। कोरोना से लड़ाई का लंबा सफर तय किया है। हमें याद रखना होगा कि वायरस अभी गया नहीं है। अभी जिस स्थिति में भारत है, उसे बिगड़ने नहीं देना है, बल्कि सुधार करना है। उन्होंने कहा, ''हमें ये भूलना नहीं है कि लॉकडाउन भले चला गया हो, वायरस नहीं गया है। बीते 7-8 महीनों में, प्रत्येक भारतीय के प्रयास से, भारत आज जिस संभली हुई स्थिति में हैं, हमें उसे बिगड़ने नहीं देना है और अधिक सुधार करना है। 

नागरिकों का जीवन बचाने में सफल हुआ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत ज्यादा से ज्यादा लोगों के जीवन को बचाने में सफल रहा है। देश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट काफी बेहतर है। यह समय लापरवाह होने का नहीं है। यह मान लेने का नहीं है कि कोरोना चला गया है या फिर कोरोना से कोई खतरा नहीं है। हाल के दिनों में बहुत से वीडियो और तस्वीरें देखी हैं, जिसमें साफ पता चलता है कि बहुत लोगों ने सावधानी बरतना बंद कर दिया है या फिर ढिलाई दे रहे हैं। अगर आप लापरवाही बरत रहे हैं और बिना मास्क के बाहर  निकल रहे हैं तो अपने आपको, अपने परिजनों को उतने बड़े संकट में डाल रहे हैं। आज अमेरिका, यूरोप के देशों में कोरोना के मामले कम हो रहे थे, लेकिन अचानक से फिर से बढ़ने लगे हैं। यह चिंताजनक बढ़ोतरी है।

कई वैक्सीन पर चल रहा है काम

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वैक्सीन के आने तक कोरोना के खिलाफ लड़ाई को कमजोर नहीं होने देना है। देश में कई वैक्सीन पर काम चल रहा है। एक-एक नागरिक तक वैक्सीन पहुंचे, इसके लिए तेजी से काम हो रहा है। 

जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं

पीएम मोदी ने कोरोना वायरस को लेकर कहा कि जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं। बरसों बाद हम ऐसा होता देख रहे हैं कि मानवता को बचाने के लिए युद्धस्तर पर काम हो रहा है। अनेक देश इसके लिए काम कर रहे हैं। हमारे देश के वैज्ञानिक भी वैक्सीन के लिए  जी-जान से जुटे हैं।  भारत में अभी कोरोना की कई वैक्सीन्स पर काम चल रहा है। इनमें से कुछ एडवान्स स्टेज पर हैं।

इससे पहले पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, "आज शाम 6 बजे राष्ट्र के नाम संदेश दूंगा। आप जरूर जुड़ें।" किस मुद्दे पर देश को संबोधित करेंगे, इसकी जानकारी प्रधानमंत्री ने नहीं दी है, लेकिन कयास लगाए जा रहे हैं कि देशभर में त्योहारी सीजन को देखते हुए पीएम मोदी कोरोना वायरस महामारी की स्थिति पर संबोधित कर सकते हैं।   

आपको बता दें कि नवरात्रि की शुरुआत हो चुकी है। आने वाले समय में दीपवली और छठ पर्व भी है, जिसे देश में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है।  साथ ही प्रधानमंत्री अपने इस संबोधन के दौरान लोगों से कोरोना को ध्यान में रखते हुए त्योहार मनाने की अपील भी कर सकते हैं। 

देशभ में कोरोना की बात करें तो स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 46,790 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 75,97,63,000 हो गई है। वहीं पिछले 24 घंटे में 587 लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,15,197 हो गई है।

इसे भी पढ़ें :  

मोदी के 'हनुमान' को शाह की दो टूक,बोले-गठबंधन तोड़ने का फैसला हमारा नहीं उनका​

बिहार चुनाव : वीआईपी चुनाव प्रचारकों की सभा में नक्सली हमले का खतरा, अलर्ट जारी

राहत की बात यह है कि पिछले तीन महीनों में पहली बार संक्रमण के नए मामले सबसे कम आए हैं।  इससे पहले, 23 जुलाई को 50 हजार से कम (45,720) नए मामले दर्ज किए गए थे। हाल ही में सरकार ने कहा था कि देश ने कोरोना के पीक को पार कर लिया क्योंकि सितंबर में जहां रोजाना आने वाले नए कोरोना केसों की संख्या 90,000 से ज्यादा थी, अब वह घटकर 50 से 60 हजार के बीच रह गई है। 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि रिकवरी रेट के मामले में भारत शीर्ष देशों में है क्योंकि हम उन देशों में से हैं, जिन्होंने पहले ही लॉकडाउन को अपना लिया था। प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में सुविकसित वैक्सीन आपूर्ति व्यवस्था को तैयार करने पर काम कर रहा है। 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.