यूपी कोरोना कहर: पीलीभीत जेल में 105 कैदी कोरोना संक्रमित, आगरा में बिगड़े हालात

18 Sep, 2020 10:42 IST|Sakshi
फाइल फोटो

पीलीभीत जेल में 105 कैदी निकले कोरोना पीड़ित

आगरा में कोविड-19 से स्थिति गंभीर

पीलीभीत/आगरा: उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है। लगातार ऐसे मामले आ रहे हैं जिससे स्वास्थ्य व्यवस्था हलकान है। एक तरफ लोग काम धंधे में लगे हैं वहीं कोरोना वायरस दबे पांव बड़ी तादाद में लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। 

पीलीभीत जेल में 105 कैदी निकले कोरोना पीड़ित
 
पीलीभीत जिला जेल के अधीक्षक अनूप मन्मव शास्त्री के अनुसार, जिला सरकारी अस्पताल के चिकित्सा अधिकारियों की एक टीम ने जेल परिसर का दौरा किया और नमूनों की जांच की जिसके बाद 105 कैदी कोरानावायरस से संक्रमित पाए गए। इनमें से लक्षण वाले 19 कैदियों को एल एच आयुर्वेदिक कॉलेज में एल 1 सुविधा में शिफ्ट किया गया है।
शास्त्री ने कहा कि संक्रमित कैदियों में से दो कैदियों को तीन दिन पहले जमानत पर रिहा कर दिया गया था, जबकि शेष 84 बिना लक्षण वाले कैदियों को जिला जेल परिसर के भीतर एक आइसोलेशन वार्ड में रखा गया, जहां उन्हें उचित चिकित्सा मिलेगी। इससे पहले, जेल प्रशासन ने 7 सितंबर को 100 कैदियों के नमूने की जांच की व्यवस्था की थी। इनमें से 10 सितंबर को 4 कैदी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। बता दें कि जेल की क्षमता 802 कैदियों की है, लेकिन 946 कैदी यहां रह रहे हैं।

आगरा में कोविड-19 से स्थिति गंभीर

स्वास्थ्य अधिकारियों ने साफ कहा है कि संक्रमण का ग्राफ बढ़ रहा है और ये बेहद चिंता की बात है। सरकारी तौर पर कोरोना वायरस संक्रमण प्रसार को नियंत्रित करने के तमाम उपाय किये जा रहे हैं। आगरा में संक्रमण की कुल संख्या अब 4,495 है, और इसमें से 3,529 की रिकवरी हो चुकी है। वहीं होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों सहित सक्रिय मामलों की संख्या 850 है। अब तक जांचे गए नमूनों की कुल संख्या 1,59,806 है। सामने आए मामलों में मेडिकल कॉलेज के एक डॉक्टर और तीन स्वास्थ्यकर्मी, लगभग आधा दर्जन नगर निगम के अधिकारी, सदर तहसील के कई वकील और आगरा सिविल कोर्ट के लोग शामिल हैं।

मथुरा में तीन मौतें और 116 नए मामले दर्ज हुए हैं, जबकि फिरोजाबाद में 47, मैनपुरी में 45, एटा में 21, कासगंज में 12 मामले दर्ज किए गए हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि वरिष्ठ नागरिक अब अधिक संवेदनशील समूह साबित हो रहे हैं। हालांकि, बेहतर इलाज, सुविधाओं और समय पर इलाज के कारण अब तक मृत्यु दर नियंत्रण में है।

उत्तर प्रदेश के दस शीर्ष शहरों में कोविड -19 से हुई मौतों के मामले में आगरा दसवें स्थान पर है। लखनऊ में 554, कानपुर 550, आगरा में 117 लोगों की मौत की सूचना मिली है। इसका श्रेय स्वास्थ्य अधिकारियों ने आगरा मॉडल को दिया है, जिसमें संपर्क निगरानी, स्वास्थ्य सर्वेक्षण शिविर, दवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला, चिकित्सा सहायता प्रौद्योगिकी के निरंतर अपग्रेड और सबसे अधिक महत्वपूर्ण परीक्षण दर में बढ़ोतरी शामिल है।

इस बीच एएसआई 21 सितंबर से ताजमहल और आगरा किले को फिर से खोलने के लिए व्यवस्थाओं को अंतिम रूप दे रहा है। प्रवेश से पहले सभी आगंतुकों को अपना नाम और पता दर्ज कराना होगा। शरीर का तापमान भी जांचा जाएगा। दो शिफ्टों में प्रत्येक में 2,500 के हिसाब से सिर्फ 5,000 आगंतुकों को अनुमति दी जाएगी।
 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.