हरियाणा के पूर्व शिक्षामंत्री स्वामी अग्निवेश का निधन, सोमवार से थे वेंटिलेटर पर

11 Sep, 2020 20:18 IST|संजय कुमार बिरादर
स्वामी अग्निवेश (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : जाने-माने सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश का आज यहां लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। दिल्ली के एक निजी अस्पताल में भर्ती स्वामी अग्निवेश का शाम करीब 6 बजे दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। स्वामी अग्निवेश को सोमवार को यहां के इंस्टीट्यूट ऑफ लिवर एंड बालियरी साइंसेज (आईएलबीएस) में भर्ती किया गया था।

अस्पताल के अधिकारियों ने स्वामी अग्निवेश के निधन की पुष्टि करते हुए बताया कि स्वामी अग्निवेश को दिल का दौरा पड़ा। इसके तुरंत बाद उन्हें बचाने की हर संभव कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने शाम 6.30 बजे अंतिम सांस ली।

डॉक्टरों ने बताया कि लिवर सिरोसिस बीमारी के कारण स्वामी अग्निवेश के कई प्रमुख अंगों के काम करना बंद करने पर उन्हें वेंटीलेटर पर रखकर उनका इलाज किया जा रहा था। डॉक्टरों की एक टीम उनके स्वास्थ्य पर नजर रखी हुई थी, लेकिन आज शाम आए हार्ट अटैक के बाद उनकी तबीयत और बिगड़ गई और उनका निधन हो गया।

हरियाणा में 21 सितंबर 1939 को जन्मे स्वामी अग्निवेश सामाजिक मुद्दों पर आवाज उठाने के लिए जाने जाते थे। 1970 में उन्होंने आर्य सभा नाम की राजनीतिक पार्टी बनाई है और उसी पार्टी की टिकट पर वर्ष 1977 में हरियाणा विधानसभा के लिए पहली बार चुने गए और हरियाणा में बतौर शिक्षामंत्री के रूप में काम किया।  बाद में उन्होंने 1981 में बंधुआ मुक्ति मोर्चा के नाम का संगठन स्थापित किया।

इसे भी पढ़ें : 

उद्धव ठाकरे सरकार पर बरसे देवेंद्र फडणवीस, कहा- दाऊद का घर छोड़ा और कंगना का तोड़ा
वर्ष 2011 में स्वतंत्रता सेनानी व सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हाजरे की अगुवाई में चलाए गए भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन का हिस्सा रहे स्वामी अग्निवेश ने बाद में मतभेदों के कारण वह इस आंदोलन से खुद को किनारा कर लिया था। यही नहीं, वे रियाल्टी शो बिग बॉस के कंटेस्टेंट भी थे। 

Related Tweets
Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.