सावधान: नए साल में बदल रहा है फोन करने का यह नियम, जानिए क्या है यह बदलाव

26 Nov, 2020 15:51 IST|सुषमाश्री
साल 2021 में बदल जाएगा फोन करने का यह नियम

TRAI ने क्यों लिया यह फैसला?

आखिर क्यों बदला नंबर डायल करने का तरीका?

TRAI से कब की गई थी इसकी सिफारिश?

नई दिल्ली: लैंडलाइन (Landline) से मोबाइल फोन (Mobile) पर डायल (Dial) करने के लिए नए साल (New Year 2021) से नियम बदल दिए गए हैं। अब आपको सालों पहले की तरह अपने लैंडलाइन से मोबाइल पर कोई भी नंबर डायल करने के लिए जीरो डायल करना अनिवार्य होगा। अगर आपने अपने नंबर के पहले जीरो नहीं लगाया तो संबंधित व्यक्ति को आप कॉल नहीं लगा पाएंगे।

यानी आप यह समझ लें कि 1 जनवरी 2021 से लैंडलाइन से मोबाइल नंबर पर फोन करने का तरीका बदलने वाला हैै। अब आप पहले की तरह सीधे नंबर डायल करके संबंधित व्यक्ति से बात नहीं कर पाएंगे। नए साल में लैंडलाइन से मोबाइल पर फोन करने से पहले आपको जीरो लगाना जरूरी होगा। बिना जीरो लगाए आपका नंबर नहीं मिलेगा।

क्यों लिया गया यह फैसला?

बता दें कि TRAI (Telecom Regulatory Authority of India) ने 29 मई 2020 को विभाग से इसकी सिफारिश की थी और टेलिकॉम विभाग ने 20 नवंबर को सर्कुलर जारी कर इस बारे में जानकारी दी है। विभाग के इस फैसले से मोबाइल और लैंडलाइन सेवाओं के लिए पर्याप्त मात्रा में नंबर बनाने की सुविधा मिलेगी।

विभाग की ओर से जारी किए गए सर्कुलर के मुताबिक, नए नियम के लागू हो जाने के बाद लैंडलाइन से मोबाइल पर कॉल करने के लिए नंबर से पहले जीरो डायल करना होगा। कहां-कहां कॉल करने पर लगाना होगा जीरो? विभाग ने बताया कि यह सुविधा अभी अपने क्षेत्र से बाहर के कॉल करने के लिए उपलब्ध है, लेकिन 1 जनवरी 2021 के बाद से आपको अपने पड़ोस में लैंडलाइन से मोबाइल पर फोन करने के लिए नंबर डायल करने से पहले जीरो लगाना होगा।

1 जनवरी के बाद कैसे डायल करेंगे नंबर?

उदाहरण के तौर पर मान लीजिए कि किसी का मोबाइल नंबर 1234567890 है और एक जनवरी से अगर लैंडलाइन फोन से इस नंबर पर कॉल करेंगे तो सबसे पहले शून्य लगाएंगे। यानी लैंडलाइन से डायल नंबर 01234567890 होगा।

आखिर क्यों बदला नंबर डायल करने का तरीका?

विभाग ने बताया कि नंबर डायल करने के इस तरीके में बदलाव करने के बाद दूरसंचार कंपनियों को मोबाइल सेवाओं के लिए 254.4 करोड़ एक्सट्रा नंबर उपलब्ध हो जाएंगे। इसके अलावा यह फ्यूचर की जरूरतों को पूरा करने में भी मदद करेगा।

TRAI से कब की गई थी इसकी सिफारिश?

भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (TRAI) ने इस तरह के कॉल के लिए 29 मई 2020 को नंबर से पहले शून्य लगाने की सिफारिश की थी, जिसके बाद दूरसंचार विभाग ने इस पर विचार किया।

कब जारी हुआ सर्कुलर?

दूरसंचार विभाग (Department of Telecommunication) ने 20 नवंबर को जारी एक सर्कुलर में कहा कि लैंडलाइन से मोबाइल पर नंबर डायल करने के तरीके में बदलाव की ट्राई की सिफारिशों को मान लिया गया है।

क्या कहा दूरसंचार विभाग ने?

दूरसंचार विभाग ने कहा कि कंपनियों को लैंडलाइन के सभी ग्राहकों को शून्य डायल करने की सुविधा देनी होगी। फिलहाल यह सुविधा अभी अपने क्षेत्र के बाहर कॉल करने पर ही मिलती है। कंपनियों ने इस नई व्यवस्था को अपनाने के लिए एक जनवरी तक का समय दिया गया है।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.