मुंबई पुलिस को सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार, 3 दिन में मांगी अब तक की अपडेट रिपोर्ट

5 Aug, 2020 16:33 IST|Sakshi
फाइल फोटो

रिया चक्रवर्ती की याचिका की सुनवाई

मुंबई पुलिस को करारी फटकार

नई दिल्ली :  दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार और रिया चक्रवर्ती की याचिका की सुनवाई करते हुए मुंबई पुलिस को फटकार लगाई है। सर्वोच्च अदालत ने महाराष्ट्र सरकार से कहा, ' बिहार पुलिस के ऑफिसर के साथ जिस तरह बर्ताव हुआ वह सही नहीं है। बिहार का पुलिस अधिकारी मुंबई अपनी ड्यूटी निभाने के लिए गया हुआ था। इसलिए आपको भी पेशेवर तरीके से कार्रवाई करनी चाहिए थी और साक्ष्यों को संभाले रखना चाहिए था।'

 सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई और महाराष्ट्र सरकार को भी सख्त निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा है कि मुंबई पुलिस द्वारा साक्ष्य मिटाने का कोई प्रयास नहीं किया जाना चाहिए। साथ ही साथ अदालत ने 3 दिन के भीतर मुंबई पुलिस और बिहार पुलिस को अभी तक की जांच रिपोर्ट को पेश करने का भी आदेश दिया है।

माना जा रहा है कि अब दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच में सुप्रीम कोर्ट अहम भूमिका निभाएगा और ऐसे में कयास लगाए जाने लगे हैं कि अब मामले की जांच जल्द ही सीबीआई को भी ट्रांसफर हो सकती है।

कोर्ट में इस मामले की सुनवाई अगले सप्ताह फिर होगी। कोर्ट में बिहार सरकार की तरफ से मुकुल रोहतगी ने पक्ष रखा। सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस ऋषिकेश राय के सिंगल बेंच में रिया चक्रवर्ती की याचिका 11 नंबर को सूचीबद्ध कर दिया गया था। बिहार सरकार की ओर से वरिष्ठ एडवोकेट मुकुल रोहतगी ने अपना पक्ष रखते हुए सरकार की तरफ से दलील पेश की। इसके अलावा सुशांत सिंह के पिता की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता विकास सिंह और महाराष्ट्र सरकार की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता बसंत ने अपना-अपना पक्ष रखा।

आपको बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत के पिता के के सिंह ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ पटना के राजीव नगर थाने में एफआईआर दर्ज करा रखी है। सुशांत सिंह के पिता के के सिंह ने रिया पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके बाद खतरे को भांपते हुए रिया ने सुप्रीम कोर्ट में मामले की स्थानांतरण याचिका दायर करते हुए बिहार में दर्ज केस को मुंबई ट्रांसफर कराने की मांग की थी। इतना ही नहीं, रिया के वकील ने सीबीआई जांच की सिफारिश पर भी सवाल उठाए थे।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.