10 अक्टूबर को महाराष्ट्र में सबकुछ बंद करने की तैयारी, सरकार को बड़ी चेतावनी

24 Sep, 2020 07:51 IST|Sakshi
फोटो : सौ. सोशल मीडिया

मुंबई : आरक्षण की मांग को लेकर आक्रामक हुए मराठा समाज ने 10 अक्टूबर को "महाराष्ट्र बंद’ की चेतावनी दी है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा से मराठा आरक्षण पर रोक लगाए जाने के बाद बुधवार को कोल्हापुर में मराठा समाज की तरफ से गोलमेज परिषद का आयोजन किया गया। इसमें राज्य के 29 जिलों से मराठा समाज के विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि शामिल हुए। जिसमें महाराष्ट्र बंद की घोषणा की गई। 

गोलमेज परिषद में मराठा आरक्षण पर लगी रोक को हटाने समेत समाज की विभिन्न मांगों को लेकर 15 प्रस्ताव मंजूर किए गए। राज्य सरकार की ओर से मराठा आंदोलन टालने के लिए लगभग 1210 करोड़ की विभिन्न योजनाओं को मंजूरी दी गई है। लेकिन लगता है मराठा समुदाय इससे संतुष्ट नहीं है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा मराठा आरक्षण पर रोक लगाए जाने के बाद से ही राज्य में मराठा समाज लामबंद हैं। जगह-जगह आंदोलन हो रहा है। 

ओबीसी कोटे से मराठा आरक्षण के खिलाफ : वडेट्टीवार

राज्य के कैबिनेट मंत्री विजय वडेट्टीवार ने कहा है कि हम मराठा आरक्षण के विरोध में नहीं हैं पर ओबीसी आरक्षण में से मराठा आरक्षण देने के खिलाफ हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में 52 फीसदी ओबीसी हैं पर उन्हें जनसंख्या में तुलना में कम आरक्षण मिल रहा है। फिलहाल इस समाज को 27 फीसदी आरक्षण दिया गया है, जिसमें विमुक्त घूमंतु जातियों को 8 फीसदी आरक्षण दे दिया गया है। अब ओबीसी समाज के लिए केवल 19 फीसदी आरक्षण बचा है।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.