महाराष्ट्र में 31 तो नगालैंड में 15 जुलाई तक बढ़ा लॉकडाउन, जानें दूसरे राज्यों का हाल

30 Jun, 2020 09:05 IST|Sakshi
फोटो : सौ, सोशल मीडिया

नई दिल्ली :  देश में अनलॉक 1.0 की मियाद 30 जून को खत्म हो रही है। ऐसे में हर किसी के मन में यह सवाल है कि उसके यहां 1 जुलाई से क्या व्यवस्था लागू होगी? क्या राहत मिलेगी या पाबंदियां जारी रहेंगी? राज्यों ने इस पर मंथन शुरू कर दिया है। ताजा खबर यह है कि महाराष्ट्र में 31 जुलाजई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को ही इसके संकेत दे दिए थे और अब आधिकारिक ऐलान हो गया। 

वहीं मणिपुर ने भी 15 दिन के लिए पाबंदियां जारी रखने का फैसला किया है। ऐसे ही संकेत तेलंगाना से मिल रहे हैं। इससे पहले पश्चिम बंगाल और झारखंड जैसे राज्य 31 जुलाई तक लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान कर चुके हैं। जबकि तमिलनाडु ने प्रभावित इलाकों को छोड़कर बाकी जगह छूट देने का फैसला किया है। हालांकि एक बात पूरी तरह साफ है कि जहां कोरोना वायरस के नए केस में कमी आई है, वहां छूट मिल सकती है। 

 लॉकडाउन पर राज्य सरकार 

तेलंगाना : पिछले कुछ दिनों में हैदराबाद में कोरोना वायरस के मामलों में तेज वृद्धि ने कई दुकानों, व्यापारिक प्रतिष्ठानों और सामान्य बाजारों को 7 से 10 दिनों के लिए स्वैच्छिक लॉकडाउन के लिए मजबूर किया है। प्रदेश सरकार अभी केंद्र की गाइडलाइन का इंतजार कर रही है।

झारखंड : यहां 31 जुलाई तक लॉकडाउन बढ़ाया जा चुका है। हालांकि इस बारे में राज्य सरकार ने विस्तृत आदेश जारी नहीं किया है। अब तक यहां 2,262 से अधिक पॉजिटिव केस आए हैं। उम्मीद की जा रही है कि लॉकडाउन या अनलॉक 2.0 पर 1 जुलाई तक फैसला हो सका है।

असम : असम सरकार ने शुक्रवार से ही राज्य भर में 12 घंटे के लिए रात का कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है। वहीं कामरूप (मेट्रो) जिले में 14 दिनों के पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की है, जिसमें गुवाहाटी जैसे सबसे व्यस्त शहर भी शामिल है।

पश्चिम बंगाल : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कुछ दिन पहले ही 31 जुलाई तक राज्य में लॉकडाउन बढ़ा दिया था। उन्होंने केंद्र सरकार से अपील की कि 31 जुलाई तक उच्च कोविड -19 संक्रमण दर वाले राज्यों के साथ अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को कोलकाता आने से रोका जाए। एक अन्य फैसले में, उन्होंने राज्य में रात के कर्फ्यू में एक घंटे तक ढील देने का फैसला किया। अब प्रदेश में रात 10 बजे से सुबह 5 बजे के बीच कर्फ्यू है। इसके अलावा उन्होंने कोलकाता में 1 जुलाई से मेट्रो सेवाओं को फिर से शुरू करने का भी संकेत दिया है।

तमिलनाडु  : तमिलनाडु सरकार ने कहा कि चेन्नई और मदुरै में पांच जुलाई तक कड़े प्रतिबंध जारी रहेंगे जबकि शेष राज्य में मौजूदा पांबदियां और ढील 31 जुलाई तक लागू रहेगी। स्कूल, कॉलेज, मॉल, रिजॉर्ट, लॉज, सिनेमा हॉल और बार अभी बंद रहेंगे तथा नगरीय क्षेत्रों में धार्मिक सभाओं और कार्यक्रमों पर रोक है। चेन्नई और मदुरै में आवश्यक बिक्री वाले दुकानों को खुलने के समय में भी बढ़ोतरी करेंगे यह 31 जुलाई तक लागू रहेंगे।

दिल्ली : कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए दिल्ली में स्कूल 31 जुलाई तक बंद रहेंगे, जबकि ऑनलाइन कक्षाएं और गतिविधियां जारी रहेंगी। हालांकि, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पहले राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लॉकडाउन मोड पर लौटने का विचार किया था।

मध्य प्रदेश : भोपाल और इंदौर में केस लगातार सामने आ रहे हैं। अधिकांश स्थानों पर रविवार को बाजार बंद रखने का फैसला हुआ है। शिवराज सिंह चौहान भी आगे की रणनीति को लेकर केंद्र सरकार के दिशा-निर्देशों का इंतजार कर रहे हैं। यही स्थिति गुजरात की है, यहां अहमदाबाद में अब भी लगातार केस सामने आ रहे हैं।

राजस्थान : राजस्थान भी उन राज्यों में शामिल हैं जहां लगातार केस सामने आ रहे हैं। गहलोत सरकार की नजर अपने यहां संक्रमण को काबू करने के साथ ही बाहर से आने वालों पर भी है। हाल ही में लॉकडाउन के कारण बंद किए गए ग्रामीण क्षेत्रों के ऐसे धार्मिक स्थल एक जुलाई से खोलने की अनुमति दे दी गई है जहां लोग कम आते हैं।साथ ही देश के विभिन्न हिस्सों से राजस्थान आने वाले व्यक्तियों के लिए 14 दिन के होम क्वारंटीन की अनिवार्यता हटाने के निर्देश दिए हैं।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.