देश का पहला संस्थान जो देगा घर बैठे डिग्री, IIT मद्रास ने शुरू किया ऑनलाइन BSC का ये प्रोग्राम

1 Jul, 2020 12:25 IST|Sakshi
फोटो : सौ, सोशल मीडिया

नई दिल्ली :  देश में पहली बार बीएससी का डिग्री प्रोग्राम ऑनलाइन उपलब्ध कराया गया है। खास बात यह है कि प्रोग्रामिंग और डाटा साइंस में यह डिग्री प्रोग्राम देश के सबसे प्रतिष्ठित संस्थान आईआईटी मद्रास के द्वारा शुरू किया गया है।  यह कोर्स ऐसे किसी भी विद्यार्थी के लिए है जो कक्षा बारहवीं उत्तीर्ण कर चुका है एवं दसवीं में उसके पास उसके पास अंग्रेजी और गणित विषय थे तथा जो कैंपस वाले किसी स्नातक पाठ्यक्रम मे दाखिला करा चुका है। जो विद्यार्थी इस बार बारहवीं उत्तीर्ण कर रहे हैं, वे भी आवेदन के पात्र हैं। स्नातक और कार्यशील पेशेवर भी यह पाठ्यक्रम कर सकते हैं। 

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक' और मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री संजय धोत्रे ने यह पाठ्यक्रम लांच किया। निशंक ने इस मौके पर कहा, ‘‘ आईआईटी मद्रास ने प्रोग्रामिंग और डाटा साइंस में दुनिया का पहला ऑनलाइन बीएससी डिग्री कार्यक्रम शुरू किया है। विश्लेषण से खुलासा होता है कि हर साल सात से साढ़े सात लाख भारतीय विद्यार्थी बेहतर शिक्षा की खोज में विदेश चले जाते हैं और हमारी मेधा एवं राजस्व देश के बाहर चला जाता है।'' 

उन्होंने कहा कि आईआईटी मद्रास जैसे संस्थानों के पास भारत में ही ऐसी उत्तम शिक्षा एवं अनोखा पाठ्यक्रम लाकर आत्मनिर्भरता के मार्ग पर देश को आगे बढ़ने में मदद पहुंचाने की दूरदृष्टि और मिशन है। 

फीस केवल 3000 रुपये

 आईआईटी मद्रास के शुरू किए गए ऑनलाइन बीएससी प्रोग्राम की फीस केवल 3000 रुपये निर्धारित की गई है। 12वीं पास कर चुके किसी भी छात्र द्वारा 1 वर्ष की अवधि में डिप्लोमा कोर्स किया जा सकता है 2 वर्ष यह अवधि में फाउंडेशन और 3 में फाउंडेशन और 3 वर्ष की अवधि में वह डिग्री हासिल कर सकता है।

आईआईटी मद्रास के अधिकारियों के अनुसार डाटा साइंस तेजी से उभरते क्षेत्रों में एक है जहां 2026 तक 1.15 करोड़ नौकरियां पैदा होने का अनुमान है। इस पाठ्यक्रम में तीन चरण होंगे--फाउंडेशन कार्यक्रम, डिप्लोमा कार्यक्रम और डिग्री कार्यक्रम। हर चरण में विद्यार्थी के पास इस सर्टिफिकेट, डिप्लोमा या डिग्री कर बाहर आने का विकल्प होगा। 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.