बंगाल की खाड़ी में चक्रवात की चेतावनी, इन राज्यों में भारी बारिश का जारी हुआ हाई अलर्ट

25 Sep, 2020 19:13 IST|Sakshi
फोटो : सौ. सोशल मीडिया

वज्रपात का हाई अलर्ट जारी

मणिपुर से राजस्थान तक बारिश

बिहार के इन जिलों में भारी बारिश   

पटना :  बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की वजह से पूर्वी उत्तर प्रदेश के मध्य की तरफ समुद्र तल से 5.8 किमी की ऊंचाई पर कम दबाव के कारण चक्रवाती स्थिति बनी हुई है। ऐसे में बिहार और उत्तर प्रदेश में भारी से भारी बारिश होने की संभावना जताई जा रही है। चक्रवाती स्थितियों के प्रभाव से शुक्रवार और शनिवार को पूरे बिहार में मानसून के अति सक्रिय रहने की संभावना जताई जा रही है। सबसे अहम बात ये है कि उत्तर बिहार के 15 जिलों में और गंगा नदी से सटे जिलों में एक-दो स्थानों पर भी भारी बारिश की आशंका है। 

बिहार के इन जिलों में भारी बारिश   

पटना मौसम विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ विज्ञानी संजय कुमार का कहना है कि फिलहाल पूर्वी उत्तर प्रदेश में चक्रवात उठने के कारण बिहार में भारी बारिश की संभावना बढ़ गई है। बिहार के जिन जिलों के लिए खास तौर पर मौसम का अलर्ट जारी किया है, उनमें पूर्वी चम्पारण, पश्चिमी चंपारण, शिवहर, सीवान, गोपालजंग, सीतामढ़ी, सुपौल, दरभंगा, मधुबनी, अररिया, किशनगंज, समस्तीपुर, कटिहार, पूर्णिया, मुजफ्फरपुर और पटना एवं उसके आसपास के इलाके शामिल हैं।

मौसम विभाग की तरफ से जारी हाई अलर्ट में सबसे अहम बात ये कही गई है कि जान-माल को भारी नुकसान पहुंच सकता है। ऐसी स्थिति 27 सितंबर तक बनी रहेगी। 

वज्रपात का हाई अलर्ट जारी 

वहीं मौसम विभाग ने पूर्वी बिहार, सीमांचल और कोसी के अधिकांश जिलों में भारी बारिश के साथ वज्रपात का हाई अलर्ट जारी किया है। ऐसी स्थिति में इन जिलों के लोगों को घरों में ही रहने की सलाह दी गई है।

बता दें, कि पिछले कुछ दिनों से नेपाल में हो रही लगातार बारिश के कारण गंडक, बूढ़ी गंडक, कमला बलान जैसी नदियों के जलग्रहण क्षेत्र में बारिश होने के कारण इन नदियों के जलस्तर में भी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। जिसकी वजह से इन नदियों का पानी आने वाले कई गांवों में बाढ़ जैसे हालात उत्पन्न करना शुरू कर दिया है। 

मणिपुर से राजस्थान तक बारिश

 मौसम विज्ञानियों का कहना है कि  मणिपुर से लेकर राजस्थान तक झमाझम बारिश हो रही है। गुरुवार को बारिश के कारण राजधानी के तापमान में गिरावट दर्ज की गई। राजधानी में अधिकतम तापमान 29.8 एवं न्यूनतम 25.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। राजधानी की हवा में आर्द्रता 97 फीसद रही। तापमान में और गिरावट आने की उम्मीद है।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.