मुंबई में भारी बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त, कई इलाकों में रेड अलर्ट, PM ने की CM उद्धव से बात

6 Aug, 2020 06:39 IST|सुषमाश्री
मुंबई में लगातार भारी बारिश और आंधी से स्थिति चिंताजनक

मुंबई : निसर्ग चक्रवात के बाद अब लगातार भारी बारिश और आंधी ने मुंबई में जनजीवन अस्तव्यस्त कर दिया है। कई इलाकों में भारी जलजमाव के कारण सड़कें जाम हो गई हैं और यातायात व्यवस्था ठप हो गई है। दक्षिण मुंबई में तो कई जगह जलजमाव की स्थिति ने हालात चिंताजनक कर दी है। मुंबई, ठाणे और पालघर में रेड अलर्ट घोषित किया गया है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से फोन पर बातचीत की है। पीएम मोदी ने हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है।

इधर, मुंबई की मस्जिद और भायखला स्टेशन के बीच 2 लोकल ट्रेनें रेलवे ट्रैक पर पानी भर जाने के कारण फंस गई हैं। सीएसटी से कर्जत जाने वाले 150 यात्रियों को रेलवे कर्मचारियों ने बचाया है, लेकिन अभी भी दोनों ट्रेनों में करीब 200 लोग फंसे हुए हैं। इधर, कोलाबा क्षेत्र में 12 घंटे में 293.8 मिमी बारिश हुई है, जो दक्षिण मुंबई के लोगों ने 46 साल बाद अगस्त के महीने में देखा है।

कोलोबा में हवा की रफ्तार 106 किमी प्रति घंटा दर्ज की गई है। मुंबई में भारी बारिश ने निसर्ग चक्रवात जैसी स्थिति पैदा कर दी है। इसके मद्देनजर कई इलाकों में एनडीआरएफ की टीमें तैनात कर दी गई हैं।

1. कोल्हापुर ( 4 टीमें)

2. सांगली (2 टीमें)

3. सतारा (1 टीम)

4. ठाणे (1 टीम)

5. पालघर (1 टीम)

6. मुंबई (5 टीमें)

7. नागपुर (1 टीम)

6 जगहों पर दीवार और मकान गिरने का मामला सामने आया है, जबकि 141 स्थानों पर पेड़ गिरने की शिकायतें आई हैं। हालांकि कोई जनहानि नहीं हुई है। CSMT से कुर्ला (सेंट्रल रेलवे) और CSMT से वाशी के बीच हार्बर लाइन बंद कर दी गई है।

मौसम विभाग ने मुंबई में गुरुवार को भी भारी बारिश की आशंका जताई गई है। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने मुंबई और आसपास के क्षेत्रों में भारी बारिश के बाद स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को सतर्क और तैयार रहने का निर्देश दिया है। साथ ही सीएम ने लोगों से घरों से बाहर न निकलने की अपील की है। इधर, शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने लोगों से घरों में रहने की अपील की है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि आंधी और तेज बारिश की आशंका बनी हुई है। बिना जरूरत के घरों से बाहर ना निकलें।

कोंकण में लगातार हो रही बारिश से चार नदियां उफान पर हैं। रायगढ़ के मान गांव की सावित्री नदी 2 मीटर (डेंजर लेवल) के ऊपर बह रही है। काल नदी उफान पर होने से 86 गांव वाले जो फंसे थे, उन्हें सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है। रायगढ़ जिले में मोजे मोरबा घाट में सड़क पर चट्टान और मलबा गिरने से ट्रैफिक बंद कर दिया गया है। मलबा हटाने का काम जारी है।

मान गांव तहसील में कुछ घरों को नुकसान हुआ है। मुंबई-गोवा हाइवे के पास रोहा गांव में आंबा और कुंडलिका नदियां उफान पर हैं। दोनों नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।


मुंबई-गोवा हाइवे पर कई जगह यातायात पर असर हुआ है। ट्रैफिक कोलाड टोल के आगे भिरा नाके से डायवर्ट किया गया है। महाड-दापोली (विन्हेरे मार्ग) मार्ग पर कुलां गाव के पास सड़क पर चट्टान का मलबा गिरा है। मलबा हटाने का काम जारी है।

इधर, लगातार हो रही बारिश से बढ़े खतरे को देखते हुए मुंबई पुलिस ने लोगों से घरों से बाहर ना निकलने की अपील की है। अगर कोई जरूरी काम ना हो तो लोग घर से ना निकलें और सभी आवश्यक सावधानियों बरतें।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.