भारतीय वायु सेना की बढ़ी ताकत, जुलाई में भारत के पास होंगे दो और राफेल लड़ाकू विमान

29 Jun, 2020 19:35 IST|Sakshi
राफेल लड़ाकू विमान (फोटो सौजन्य सोशल मीडिया )

फ्रांस करेगा लड़ाकू राफेल विमान की आपूर्ति

जुलाई के अंत तक आपूर्ति करने का दिया भरोसा

पिछले दिनों विपक्ष ने सरकार पर लगाए थे गंभीर आरोप

नई दिल्ली : पिछले दिनों राफेल विमान को मुद्दा बना कर विपक्ष ने केन्द्र सरकार को को घेरने की कोशिश की थी, और भ्रष्टाचार  का आरोप मोदी सरकार पर लगाया था । वही राफेल विमान एक बार फिर से चर्चा में आ गया है। लेकिन इस बार वजह ये है कि भारताय वायु सेना की ताकत और बढ़ने जा रही है ।  फ्रांस बहुत जल्द भारत को दो लड़ाकू राफेल विमान की आपूर्ति करेगा । शीर्ष रक्षा अधिकारियों ने कहा है कि उम्मीद के अनुरूप फ्रांस भारतीय वायुसेना को दो राफेल लड़ाकू विमानों की आपूर्ति जुलाई अंत तक कर देगा। अधिकारियों ने कहा कि कोरोनावायरस महामारी के शुरुआत में ही फ्रांस ने भारत को आपूर्ति तिथि के बारे में सूचित कर दिया था।

एक वरिष्ठ आईएएफ अधिकारी ने कहा, "फ्रेंच कंपनी दशॉ एविएशन बहुप्रतीक्षित दो राफेल लड़ाकू विमानों की आपूर्ति जुलाई अंत तक कर देगी।" अधिकारी ने कहा, "वे हमें आपूर्ति की तिथि के बारे में और यदि कोई देरी होती है तो उसके बारे में सूचित करेंगे। फिलहाल सभी को उम्मीद है कि फ्रेंच कंपनी ने जो कहा है कि उसके अनुरूप वह आपूर्ति कर देगी।"

आपूर्ति तिथि 27 जुलाई के बारे में पूछे जाने पर आईएएफ अधिकारी ने कहा, "हमें नहीं पता।" रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने भी यही जवाब दिया।
फ्रांस ने दो जून को अपने वादे को दोहराया था कि कोविड-19 महामारी द्वारा खड़ी गई चुनौती के बावजूद वह समय पर आपूर्ति के अपने वादे को पूरा करेगा। आपूर्ति की अपेक्षित तिथि जुलाई अंत है।

फ्रांस की तरफ से यह वादा तब दोहराया गया था, जब रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस के सशस्त्र बल मंत्री फ्लोरेंस पार्ली के साथ टेलीफोन पर बात की थी। उन्होंने कोविड-19 की स्थिति, क्षेत्रीय सुरक्षा सहित आपसी चिंता के मामलों पर चर्चा की थी और वे द्विपक्षीय रक्षा संबंधों को मजबूत करने पर सहमत हुए थे।दोनों मंत्रियों ने भारतीय और फ्रांसीसी सशस्त्र बलों द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की थी।

भरतीय रक्षा मंत्रालय ने तब कहा था कि फ्रांस ने कोविड-19 महामारी द्वारा पेश की गई चुनौती के बावजूद राफेल लड़ाकू विमान की समय पर आपूर्ति सुनिश्चित कराने के अपने वादे को दोहराया था।
इसके पहले आठ अक्टूबर, 2019 को राजनाथ सिंह ने फ्रांस में राफेल विमान में एक उड़ान भरी थी। उन्होंने फ्रांस के मेरिगनैक में राफेल को सौंपे जाने के लिए आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा था, "नया राफेल मीडियम मल्टी-रोल कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एमएमआरसीए) भारत को मजबूत बनाएगा और देश के हवाई वर्चस्व को काफी बढ़ाएगा, जिससे क्षेत्र में शांति व सुरक्षा सुनिश्चित हो सकेगी।"

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.