कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच दिल्लीवालों के लिए अच्छी खबर, प्रदेश में शुरू हुआ प्लाज्मा बैंक

2 Jul, 2020 14:31 IST|Sakshi
दिल्ली में शुरू हुआ पहला प्लाज्मा बैंक

नई दिल्ली : कोरोना वायरस के इलाज के लिए बृहस्पतिवार को दिल्ली में पहले प्लाज्मा बैंक की शुरुआत हुई। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोविड-19 के मरीज ठीक होने के 14 दिन बाद प्लाज्मा दान कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में 1031 और 8800007722 नंबर जारी किया, जिन पर लोग कोविड-19 मरीजों के लिए प्लाज्मा दान करने के लिए सम्पर्क कर सकते हैं। सरकारी संस्थान ‘इंस्टिट्यूट ऑफ़ लीवर एंड बिलिअरी साइंसेस' में प्लाज्मा बैंक की स्थापना की गई है। केजरीवाल ने उम्मीद जताई कि प्लाज्मा थेरेपी के जरिये कोविड-19 से मरने वालों की संख्या में कमी आ सकती है।

उन्होंने कहा कि 18 से 60 वर्ष तक की आयु के लोग, जिनका वजन 50 किलोग्राम से कम नहीं है, वे कोविड-19 मरीजों के लिए अपना प्लाज्मा दान कर सकते हैं। प्लाज्मा थेरेपी में कोविड-19 के ठीक हुए मरीजों के रक्त से एंटीबॉडी लिया जाता है और कोविड-19 मरीजों को चढ़ाया जाता है।

केजरीवाल ने बताया कौन दे सकता है प्लाज्मा

  • उसे कोरोना हुआ होना चाहिए, जिससे वह ठीक हुआ हो
  • ठीक हुए कम से कम 14 दिन हो गए हैं
  • डोनर की उम्र 18 से 60 साल के बीच होनी चाहिए


कौन नहीं दे सकता प्लाज्मा

  • जिनका वजन 50 से कम हो
  • जो महिला एक भी बार प्रेगनेंट हुई हो वो नहीं दे सकती
  • शुगर के मरीज नहीं दे सकते
  • हाइपरटेंशन वाले नहीं दे सकते
  • बीपी 140 के ऊपर रहता है तो नहीं दे सकते
  • कैंसर से जो लोग ठीक हुए हैं वो नहीं दे सकते
  • जिनको किडनी, हार्ट, लीवर की बीमारी वाले नहीं दे सकते

मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण के बाद स्वस्थ हो चुके व्यक्तियों से कहा ‘जो व्यक्ति ठीक हो चुके हैं उनसे मेरी हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि आप सब लोग सामने आकर प्लाज्मा डोनेट करें ताकि लोगों की जान बचाई जा सके। किसी की जान बचाने का अवसर बड़ी मुश्किल से मिलता है। आप लोगों के पास यह अवसर है इसलिए सामने आकर लोगों की जान बचाएं।’

—भाषा

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.