25 नवंबर को तमिलनाडु में आ सकता है चक्रवाती तूफान, 7 जिलों में बस सेवाएं बंद

23 Nov, 2020 19:50 IST|अंशुल चौहान
चक्रवाती तूफान

मौसम विज्ञान विभाग ने जारी की चेतावनी

जिला प्रशासनों को अलर्ट रहने के निर्देश

कुड्डालूर जिले के रवाना हुए 6 एनडीआरएफ 

चेन्नई : बंगाल की खाड़ी (Bay Of Bengal) में बने निम्न दबाव के कारण भीषण चक्रवात निवार के 25 नवंबर को तमिलनाडु (Tamilnadu) तट से टकराने की आशंका के बाद राज्य सरकार ने कई जरूरी तैयारियां कर ली हैं। मंगलवार से अगले आदेश तक सात जिलों में अंतर जिला बस सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं। कुछ जिलों में ट्रेनें भी आंशिक या पूरी तरह रद कर दी गई हैं।

आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) में भी प्रमुख विभागों को तटीय एवं रायलसीमा (Rayalaseema) क्षेत्रों के अधिकांश जिलों में अगले तीन दिनों में भारी बारिश की चेतावनी के बाद हाई अलर्ट पर रखा गया है। बता दें कि चक्रवात के खतरे से निपटने के लिए राज्य सरकार ने समीक्षा बैठक की गई है। इसमें जिला प्रशासनों को तत्पर और तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं।

बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव के क्षेत्र के मंगलवार को चक्रवाती तूफान (Cyclone) में बदलने और इसके अगले दिन तट के पास से गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में गुजरने की संभावना है। इस बीच तमिलनाडु सरकार (Tamilnadu Government) ने सोमवार को हालात की समीक्षा की और जिला प्रशासनों को सतर्क रहने के निर्देश दिए।

मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने बताया कि दक्षिण पश्चिम एवं निकटवर्ती दक्षिण पूर्वी बंगाल की खाड़ी के ऊपर दबाव का क्षेत्र 11 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिम-उत्तरपश्चिमी दिशा की ओर बढ़ा और सोमवार पूर्वाह्न 11 बजकर 30 मिनट पर इसी क्षेत्र पर केंद्रित रहा। यह पुडुचेरी से करीब 520 किमी पूर्व-दक्षिणपूर्व और चेन्नई से 560 किमी दक्षिणपूर्व में केंद्रित रहा। आईएमडी ने एक बुलेटिन में बताया कि इस कम दबाव के क्षेत्र के आगामी 24 घंटे में एक चक्रवाती तूफान के रूप में बदलने की संभावना है। 

बुलेटिन में दी गई जानकारी
बुलेटिन में बताया गया ‘‘यह संभवत: पूर्वपश्चिमी दिशा की ओर बढ़ेगा और इसके 100 से 110 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ एक गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में 25 नवंबर के पास कराईकल और मामल्लापुरम के बीच तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों से गुजरने का पूर्वानुमान है।'' आईएमडी ने चेतावनी दी कि इसके कारण 24 नवंबर से 26 नवंबर के दौरान तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में बारिश/गरज के साथ बौछारें पड़ने की ‘‘बहुत संभावना'' है। 

तूफान को लेकर हाई अलर्ट जारी
इसके अलावा पुडुकोट्टई, तंजावुर, तिरुवरुर, कराइकल, नगापट्टिनम, कुड्डालोर, अरियालुर और पेरम्बलुर, कल्लाकुरीची, पुडुचेरी, विल्लुपुरम, तिरुवन्नमलाई और चेंगलपट्टू में बुधवार और बृहस्पतिवार के बीच अत्यधिक भारी बारिश होने की आशंका है। इसी के परिणामस्वरूप नगापट्टिनम में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है और मछुआरों को 26 नवंबर तक समुद्र में नहीं जाने को कहा गया है। 

सीएम के पलानीस्वामी ने की बैठक
इस बीच, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी (K Palaniswami) ने यहां एक समीक्षा बैठक की और अपने कैबिनेट सहयोगियों एवं अधिकारियों को पूरी तरह सतर्क रहने और मौसम प्रणाली के कारण हो सकने वाले नुकसान को न्यूनतम करने के लिए उचित एहतियातन कदम उठाने को कहा। राजस्व मंत्री आर बी उदयकुमार और विद्युत मंत्री पी थंगामणि ने कहा कि उनके मंत्रालय चक्रवात के कारण पैदा होने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए तैयार हैं। 

इसे भी पढ़ें : 

असम के पूर्व CM तरूण गोगोई का हुआ निधन, इंदिरा गांधी के थे बेहद करीबी

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के छह दल कुड्डालूर जिले के लिए रवाना हो गए हैं और सभी जिलाधिकारियों को भारी बारिश से निपटने के लिए एहतियातन कदम उठाने का निर्देश दिया गया है। उदय कुमार ने कहा कि निचले इलाकों में रह रहे लोगों को तत्काल राहत शिविरों में चले जाना चाहिए और जिन इलाकों में भारी बारिश होने की आशंका है, वहां लोगों को आवश्यक वस्तुओं का भंडार रखना चाहिए। 
 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.