अमेरिकी जनता कोरोना वायरस के साथ जीना नहीं, मरना सीख रही है : बाइडेन

24 Oct, 2020 12:31 IST|Sakshi

महामारी कमजोर पड़ने के नहीं मिल रहे संकेत : बाइडेन

बाइडेन ने की डोनाल्ड ट्रंप की नीतियों की आलोचना

महामारी से लड़ने के लिए ट्रंप के पास नहीं कोई योजना 

वाशिंगटन : डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन ने शुक्रवार को कहा कि अमेरिकी जनता कोविड-19 के साथ जीना नहीं बल्कि मरना सीख रही है। हाल के इतिहास में अमेरिका ने समस्याओं का सामना किया, इस महामारी के सामने वे छोटी पड़ गयी हैं। उन्होंने कहा कि महामारी के कमजोर पड़ने के कोई संकेत नहीं मिल रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें : 

अमेरिकी चुनाव: क्यों ट्रंप के सामने नहीं आना चाहते थे बाइडेन

कोरोना वायरस पर नीति को लेकर बाइडेन ने अपने एक भाषण के दौरान कहा कि अब तक 220,000 अमेरिकी लोगों की मौत हो चुकी है, जो वैश्विक स्तर पर कुल मौतों का करीब 20 प्रतिशत है। उनका यह बयान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ अंतिम बहस के एक दिन बाद आया है। बाइडेन ने अपने गृह राज्य डेलावेयर में कोरोना वायरस से निपटने में ट्रंप की नीतियों की आलोचना करते हुए कहा इससे देश की अर्थव्यवस्था पर घातक प्रभाव पड़ा है। 

बाइडेन ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि यह खत्म हो रहा है और अमेरिका की जनता इसके साथ जीना सीख रही है। ये सब बयानबाजी है। जैसा कि मैंने कल रात कहा कि हम इसके साथ जीना नहीं बल्कि मरना सीख रहे हैं। हमारे सामने खतरनाक ठंड का मौसम है।'' लगभग सभी राज्यों में संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि ट्रंप के पास इससे लड़ने की कोई कार्य योजना नहीं है और जब तक वे राष्ट्रपति बने रहेंगे, ‘स्थिति और खराब' होती जाएगी। 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.