नोएडा में 105 साल की अफगान महिला ने कोरोना को दी शिकस्त, डॉक्टरों ने किया जज्बे को सलाम

1 Aug, 2020 13:10 IST|Sakshi
कॉन्सेप्ट फोटो (सौजन्य सोशल मीडिया)

अफगान महिला ने जीती मौत से जंग

105 साल की उम्र में कोरोना को दी मात

नोएडा : नोएडा में 7 दिन से वेंटिलेटर पर जिंदगी और मौत की जंग लड़ने के बाद 105 साल की अफगान महिला ने आखिरकार कोरोना को शिकस्त दे दी। जिसके बाद डाक्टरों ने बुजर्ग अफगान महिला राबिया अहमद  के जज्बे को सलाम किया है। वैश्विक महामारी कोविड-19 को मात देकर 105 साल की अफगान महिला ने इस बीमारी से लड़ रहे सभी लोगों को हिम्मत देने का काम किया है। 

संक्रमण मुक्त होने के बाद शुक्रवार को उन्हें ग्रेटर नोएडा के शारदा अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। अफगानिस्तान की मूल निवासी राबिया अल्जाइमर से पीड़ित हैं और वह इलाज के लिए जब शारदा अस्पताल आयीं तो  उनकी कोविड-19 जांच की गई। उसमें उनके संक्रमित होने की पुष्टि हुई। वह 15 जुलाई से अस्पताल में भर्ती 30 जुलाई को अंतत: उनके संक्रमण मुक्त होने की पुष्टि हुई। 

105 वर्षीय महिला को जब अस्पताल से छुट्टी दी गई तो वहां जिला प्रशासन के कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। उन्होंने महिला को गुलदस्ता देकर उनके लंबे जीवन की कामना की।

महामारी से जंग जीतने वाली राबिया का कहना है, ‘‘जब तक अल्लाह मुझे चाहते हैं मैं जिंदा रहूंगी। '' उन्होंने कहा, ‘‘व्यक्ति को हमेशा जिंदा रहना चाहिए। मुझे लगता है कि मैं कैसे लंबे समय तक जिंदा रह सकती हूं।  मैं बकरीद पर नमाज पढ़ूंगी।'' 

उनका उपचार कर रहे शारदा अस्पताल के सुपरिटेंडेंट डॉक्टर आशुतोष निरंजन के अनुसार जब राबिया अस्पताल में भर्ती हुई थी, उस समय वह अपने किसी भी रिश्तेदार को पहचानने में सक्षम नहीं थी, लेकिन कोविड-19 से जीतने के बाद वह उनमें जीने की चाहत पैदा हो गई है। 
 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.