Bihar Assembly Election 2020 : ये अचानक जागा प्रेम नहीं, बल्कि सोचा समझा मोदी का 'मिशन-बिहार' है

1 Jul, 2020 13:11 IST|Sakshi

पटना : कोरोना संक्रमण काल के दौरान मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को छठी बार देश की जनता को संबोधित किया। इस दौरान पीएम ने कई बातें कीं, लेकिन उनमें बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर मोदी कितने गंभीर हैं, यह साफ नजर आया। छठी मइया की पूजा की बात करके उन्होंने बिहार के लोगों के मन में अपने प्रति लगाव पैदा करने की कोशिश की। इतना ही नहीं, संबोधन के फौरन बाद पीएम मोदी ने भोजपुरी और मैथिली में ट्वीट करके भी बिहारियों के मन में बीजेपी के प्रति अपनापन पैदा करने की शतरंजी चाल चली है।

पीएम ने भोजपुरी-मैथिली में किया ट्वीट

अपने संबोधन के बाद पीएम ने कई भारतीय भाषाओं में ट्वीट किया। इस ट्वीट की खास बात ये रही कि पीएम मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल से मैथिली और भोजपुरी भाषा में भी ट्वीट किया है। उन्होंने भोजपुरी भाषा में ट्वीट करते हुए लिखा, 'ई गरीबजन के सम्मान सुनिश्चित करे वाला बा। प्रधानमन्त्री गरीब कल्याण अन्न योजना के आगे बढ़ावला से देश भर के करोडों लोगन के फैदा होई।'

वहीं मैथिली में पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि गरीब सबहक गरिमा सुनिश्चित करहब। पीएम गरीब कल्याण अन्न योजनाक विस्तार सम्पूर्ण भारतक करोड़ों गरीब लोक के लेल होयत।

नीतीश कुमार ने पीएम का आभार व्यक्त किया

पीएम के संबोधन के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट कर पीएम मोदी का आभार व्यक्त किया और अपने ट्वीट में लिखा, "माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार करते हुए गरीबों को 5 माह का अतिरिक्त मुफ्त राशन देने की घोषणा के लिए मैं उनको धन्यवाद देता हूं और आभार व्यक्त करता हूं।"

राजद ने कसा तंज

वहीं, राजद नेता मनोज झा ने पीएम मोदी के संबोधन पर तंज कसते हुए कहा है कि देश में आज की तारीख में जो हालात हैं, और सरहद से लेकर लोगों की आम जिंदगी में जो हो रहा है, इसे लेकर बड़ी उम्मीद से हमलोगों ने भी पीएम का संबोधन सुना। कई चीजें ठीक भी थी, मैं समझता हूं कि उन्होंने जो कहा वो प्रेस रिलीज से भी कह देते तो बड़ी बात नहीं थी, यही बेहतर भी होता।

नवंबर में होने हैं चुनाव
आपको बता दें कि इस साल नवंबर में बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में छठ पूजा का भी जिक्र किया है। ऐसे में पीएम मोदी के मैथिली और भोजपुरी भाषा में किए गए इस ट्वीट पर बिहार में राजनीतिक प्रतिक्रिया भी देखने को मिलेगी। भारत के मेहनती किसान और ईमानदार टैक्सपेयर्स की तारीफ की। मास्क पहनने और बार-बार हाथ धोना कितना जरूरी है, यह पीएम मोदी ने एक प्रधानमंत्री का उदाहरण देकर बताया। पीएम मोदी ने जनता को बताया कि कैसे एक प्रधानमंत्री को बिना मास्क के बैठक में शामिल होने पर जुर्माना भरना पड़ा था। उन्होंने जनता से अनलॉक के दौरान बरती जा रही लापरवाही को लेकर भी बात की।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.