मां-बाप से पूछो कि लालू-राबड़ी राज में क्या-क्या हुआ था? भड़के नीतीश की युवाओं को नसीहत

25 Oct, 2020 20:20 IST|Sakshi
नीतीश कुमार

नीतीश के विरोध में नारेबाजी

युवाओं को नीतीश की नसीहत 

मुजफ्फरपुर: चुनावी जनसभा को संबोधित करने पहुंचे नीतीश कुमार को रैली के दौरान युवाओं के विरोध का सामना करना पड़ा। नीतीश के भाषण से पहले ही युवाओं ने नारेबाजी करनी शुरू कर दी। उनका कहना था कि उन्हें रोजगार चाहिए न कि झूठे वादे। यहां तक कि युवाओं ने नीतीश कुमार के खिलाफ मुर्दाबाद के भी नारे लगाए। हालांकि हंगामा करने वाले युवकों को सुरक्षाकर्मियों ने मौके से हटा दिया। इस दौरान खीझे नीतीश कुमार ने कहा कि जिसकी जिंदाबाद के नारे लगाते हो उन्हें ही सुनने जाया करो। 

नीतीश की जनसभा में कई बार विरोधी नारे

ताजा चुनावी माहौल में नीतीश कुमार को सार्वजनिक मंचों पर विरोध का सामना करना पड़ा है। हालांकि नीतीश कुमार हर बार इसे विरोधियों की साजिश कहकर टाल जाते हैं। मुजफ्फरपुर के कांटी विधानसभा क्षेत्र में सीएम नीतीश कुमार जेडीयू प्रत्याशी मोहम्मद जमाल के समर्थन में लोगों से वोट मांगने आए थे। इसी दौरान दर्शक दीर्घा में बैठे युवकों ने नारेबाजी की और नीतीश कुमार वापस जाओ और नीतीश कुमार मुर्दाबाद तक के नारे लगाए। जाहिर है नीतीश कुमार सरीखे सीनियर लीडर के लिए ये सब किसी बेअदबी से कम नहीं था। लिहाजा नीतीश ने भी मंच से ही खुद के गुस्से का इजहार किया। 

युवकों को मां बाप से पूछने की सलाह 

युवकों ने कहा कि हमें रोजगार चाहिये, झूठे वादे नहीं। इसके अलावा कांटी में जनसभा के दौरान माहौल बिगड़ा तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी खुद को रोक नहीं सके। उन्होंने युवाओं को सलाह दी कि वे अपने मां-बाप से जाकर पूछें कि लालू और राबड़ी राज में क्या क्या होता था? नीतीश ने जोर देकर कहा कि आज से 15 साल पहले घरों से निकलना मुहाल था। स्वास्थ्य सेवाओं का हाल बेहद बुरा था। अब परिस्थितियां बदली हैं। 

कब तक पति-पत्नी राज का हवाला देंगे नीतीश?

वहीं मंच के बाहर युवाओं से बात करने पर उन्होंने कहा कि उनका राजनीति से कोई लेना जेना नहीं है। युवाओं ने दावा किया कि वे राजद समर्थक नहीं हैं। उन्होंने अपने बेरोजगार होने की भड़ास सीएम के आगे निकाली। जिसके बाद उन्हें सियासी दल से जोड़कर देखा जाने लगा। युवाओं ने सवाल खड़ा किया कि आखिर नीतीश कुमार कब तक लालू राबड़ी राज में कुशासन का हवाला देकर वोट बटोरते रहेंगे। बीते पंद्रह सालों में आखिर नीतीश राज में क्या कुछ हुआ ये पूछने का युवाओं को पूरा हक है।
 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.