बिहार में हमेशा से हावी है जाति-धर्म का मुद्दा, पर इन नेताओं ने की दूसरे धर्म-जाति की युवती से ​शादी

24 Oct, 2020 15:54 IST|सुषमाश्री
बिहार के नेता, जिन्होंने की दूसरे धर्म जाति की युवती से विवाह

दूसरी जाति या धर्म की महिलाओं से विवाह

बिहार चुनाव में धर्म का मुद्दा

शाहनवाज हुसैन और रेनू

पटना: जाति धर्म की दीवार तोड़कर प्रेम विवाह करने वालों की गिनती इस दुनिया में कम नहीं है। हालांकि ऐसा करने वाले नेता कम ही मिलते हैं। इसके पीछे एक बड़ी वजह यह है कि नेतागणों के लिए जाति और धर्म का मुद्दा चुनावों के दौरान बेहद बड़ा हो जाता है। अक्सर इस मुद्दे को ही केंद्र में रखकर वे कई चुनावों में जीत हासिल करते हैं।

दूसरी जाति या धर्म की महिलाओं से विवाह

ऐसे में अगर बात उस पर इन नेताओं के दूसरी जाति या धर्म की महिलाओं के साथ विवाह बंधन में बंधने की हो तो यकीनन यह हर किसी के लिए उत्सुकता का विषय होगा। गौरतलब है कि इन दिनों बिहार विधानसभा चुनाव 2020 जोरों पर है। विधानसभा चुनावों को लेकर बिहार में जगह जगह जनसभाएं और चुनावी रैलियां आयोजित की जा रही हैं। वहीं अलग अलग राजनीतिक पार्टियों का एक दूसरे पर जुबानी हमलों का दौर भी जारी है।

बिहार चुनाव में धर्म का मुद्दा

हर कोई जानता है कि बिहार की राजनीति में जाति और धर्म को बहुत बड़ा फैक्टर माना जाता है। पहले भी जाति धर्म की सही सेटिंग बिठाकर कई दल सत्ता का सुख चख चुके हैं। अब जब बात बिहार के राजनेताओं की है तो हम आपको बता दें कि यहां कई ऐसे नेता हैं या रहे हैं, जिन्होंने निजी जीवन में जाति धर्म से ऊपर उठकर प्रेम विवाह किया और समाज को बदलाव का एक रास्ता दिखाया। आइए, डालते हैं ऐसी ही कुछ जोड़ियों पर एक नजर...

रामविलास पासवान और रीना

​​ ​​

लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान ​का बीते दिनों लंबी ​बीमारी के बाद निधन हो गया। पहली पत्नी को तलाक देने के बाद जाति के बंधन से ऊपर उठकर सवर्ण परिवार की एयर होस्टेस रीना शर्मा से उन्होंने लव मैरिज की थी। पासवान की पहली पत्नी का नाम राजकुमारी देवी है।  चिराग पासवान रामविलास और रीना के ही बेटे हैं।

शाहनवाज हुसैन और रेनू

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता शाहनवाज हुसैन ने जाति और धर्म की दहलीज लांघकर शादी की। मुस्लिम समुदाय के शाहनवाज हुसैन ने हिंदू धर्म की रेनू से शादी की है। गौरतलब है कि 1992 के बाबरी विध्वंस और 1993 के मुंबई बम धमाकों के बाद हिंदू मुसलमान में जिस वक्त कड़वाहट चरम पर थी, उसी समय शाहनवाज और रेनू का प्यार भी चरम पर था। 1994 में दोनों ने शादी रचा ली थी।

श्याम रजक और अल्का

राष्ट्रीय जनता दल के नेता श्याम रजक ने भी जाति के बंधन से बाहर निकलकर शादी रचाई। उन्होंने पेशे से पत्रकार अल्का से प्रेम विवाह किया। श्याम रजक पिछड़ी जाति से हैं तो अल्का सवर्ण जाति की। समाज के डर से परिवार वाले दोनों की शादी के खिलाफ थे। हालांकि इन दोनों ने हार नहीं मानी और लगातार अपने परिवार के सदस्यों को मनाने की कोशिश की। कोशिश रंग लाई और सात साल बाद दोनों के परिवार वाले इस शादी के लिए तैयार हो गए। अल्का और श्याम रजक की शादी में खुद बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान पहुंचे थे।

सुशील मोदी और जेसिस जॉर्ज

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने इसाई धर्म की जेसिस जॉर्ज संग प्रेम विवाह किया है। दोनों की मुलाकात रेल सफर के दौरान हुई थी।

पप्पू यादव और रंजीता रंजन

दिल्ली में महिला बाइक रैली की जब पहली बार आवाज उठी थी तो संसद में बाइक चलाकर पहुंची थीं पूर्व सांसद पप्पू यादव की पत्नी रंजीता रंजन। बता दें कि पप्पू यादव और रंजीता रंजन ने भी प्रेम विवाह किया है। रंजीता सिख धर्म की हैं जबकि पप्पू यादव हिंदू परिवार से। दोनों ने लव मैरिज की है और दोनों की लवस्टोरी भी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है।

राजीव प्रताप रूडी और नीलम

                                     (नारंगी ड्रेस में नीलम और ब्लैक ड्रेस में राजीव प्रताप की बेटी हैं।)

बिहार बीजेपी के बड़े नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने हिमाचल प्रदेश की रहने वाली नीलम से लव मैरिज की है। नीलम पेशे से एयरहोस्टेस थीं। जब रूडी नागरिक उड्डयन मंत्री बने तो नीलम ने नौकरी छोड़ दी।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.