ये हैं विश्व के 9 सबसे बड़े हिंदू मंदिर, दूसरे नंबर पर होगा अयोध्या का राम मंदिर

31 Jul, 2020 00:05 IST|सुषमाश्री
दुनिया के 9 विशालतम हिंदू मंदिर

लंबी कानूनी लड़ाई के बाद उत्तर प्रदेश के श्रीराम जन्मभूमि स्थल अयोध्या में दुनिया के दूसरा सबसे बड़ा हिंदू मंदिर बनकर तैयार होने वाला है। इस बाबत सारी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। 5 अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों मंदिर का निर्माण कार्य आरंभ करने के लिए नींव की पहली ईंट रखी जाएगी।

सुखद यह है कि इससे पहले 11 फरवरी 2018 को भी पीएम मोदी ने एक अन्य हिंदू मंदिर की नींव रखी थी, जो इसी साल बनकर तैयार होना है। खास यह है कि यह मंदिर दुनिया का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर होगा। बता दें कि संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी अबुधाबी में हिंदू मंदिर का शिलान्यास किया गया। इस मंदिर को भारतीय शिल्पकारों द्वारा तैयार किया जा रहा है, जो इसी साल 2020 तक बनकर तैयार होना था, परंतु कोरोना संक्रमण काल की वजह से हो सकता है कि इसे पूरी तरह से तैयार होने में कुछ समय और भी लग जाए। बहरहाल, हमारे लिए तो गर्व की बात यह है कि जहां कामगारों को छोड़कर बाकी सभी नागरिक मुस्लिम धर्म के हों, ऐसी जगह पर मंदिर का निर्माण होना अपने आप में बड़ी बात है।

आज हम जानेंगे दुनिया के 9 सबसे बड़े मंदिरों के बारे में, जहां एक बार जाने के लिए लोग हर कोशिश करना चाहते हैं।

1. अंकोरवाट मंदिर


कंबोडिया एक ऐसा देश है, जहां दुनिया का सबसे विशाल और भव्य मंदिर है। यह मंदिर अंकोरवाट नामक इलाके में है, जो यहां के राजा सूर्य वर्मन द्वितीय के द्वारा 12वीं सदी में बनवाया गया था। यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है, जो दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक स्थल भी माना जाता है। यह 7,20,000 वर्गमीटर ( करीब 500 एकड़) के क्षेत्र में फैला हुआ है।

2. श्रीरंगनाथ मंदिर (श्रीरंगम)


तमिलनाडु के त्रिची नामक स्थान पर स्थित श्रीरंगनाथ मंदिर दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मंदिर है। यह भारत का सबसे बड़ा विष्णु मंदिर है, जो लगभग 6,31,000 वर्गमीटर के क्षेत्र में स्थित है। यह इतना विशाल है कि एक पूरा शहर इसके परिसर में बसा हुआ है।


3. अक्षरधाम मंदिर


राजधानी दिल्ली में आधुनिक काल में बनाया गया अक्षरधाम मंदिर स्वामीनारायण संप्रदाय का सबसे बड़ा मंदिर है। यह एक ऐसा प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है, जो लगभग 2,40,000 वर्गमीटर के क्षेत्र में फैला है। यहां सालभर पर्यटकों की भीड़ लगी रहती है।

4. थिल्लई नटराज चिदंबरम मंदिर


तमिलनाडु के चिदंबरम में स्थित ‘चिदंबरम मंदिर’, जो एक शिव मंदिर है और बेहद विशाल है। यह एक प्रसिद्ध तीर्थस्थल है। यह लगभग 1,60,000 वर्गमीटर के क्षेत्रफल में बना हुआ है।

5. बेलूर मठ


स्वामी विवेकानंद द्वारा बनवाया गया यह मठ कलकत्ता में हुगली नदी के किनारे स्थित है। यहां मां आद्याकाली की पूजा होती है। यह दुनिया का पांचवां विशाल हिन्दू धर्मस्थल है। यह 1,60,000 वर्गमीटर के क्षेत्र में फैला है।

6. बृहदेश्वर मंदिर


तमिलनाडु के थंजावुर का बृहदेश्वर मंदिर भी एक अति विशाल मंदिर है। यह एक शिव मंदिर है, जो करीब 1000 साल पहले राजा चोला प्रथम द्वारा बनवाया गया था। यह लगभग 10,24,00 वर्गमीटर के क्षेत्र में स्थित है।

7. अन्नामलाईयर मंदिर


यह मंदिर तमिलनाडु के तिरुवन्नामलाई में स्थित है। यह शिव मंदिर अनेक ऊंचे स्तम्भों के कारण प्रसिद्ध है। यह 1,01,171 वर्गमीटर में फैला हुआ है।

8. एकाम्बेश्वर मंदिर


दक्षिणी भारत में कांचीपुरम नामक स्थान पर स्थित एकाम्बेश्वर मंदिर भी दुनिया के सबसे बड़े मंदिरों में से एक है। यह भगवान शिव को समर्पित है। इस शिव मंदिर का क्षेत्रफल लगभग 92,860 वर्गमीटर है। यह पांच महाशिव मंदिरों एवं पंचभूत स्थलों में से एक है।

9. थिरुवनेयीकवल मंदिर


तमिलनाडु के त्रिची नामक स्थान पर स्थित इस प्रसिद्ध शिव मंदिर का निर्माण करीब 1800 वर्ष पूर्व ‘राजा कोसंगनन’ ने करवाया था। इस मंदिर का क्षेत्रफल लगभग 72,800 वर्गमीटर है।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.