...बस एक हफ्ते में लोगों को मिलने लगेगी कोरोना वैक्सीन !

7 Sep, 2020 20:56 IST|संजय कुमार बिरादर
कॉंसेप्ट इमेज

10 से 13 सितंबर के बीच अनुमतियों की प्रक्रिया पूरी

रूस में 10,27,334 कोरोना वायरस पॉजिटिव मामले

हाई रिस्क ग्रुप्स को वैक्सीन देने का फैसला

मास्को : दुनिया की सबसे पहली कोरोना वैक्सीन के रूप में रूस की स्पुत्निक वी दर्ज होने के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की घोषणा के कुछ ही हफ्तों बाद वैक्सीन के विस्तृत वितरण की तैयारी कर ली गई है। इसी सप्ताह आम लोगों की वैक्सीनेशन शुरू करने की दिशा में तैयारियां चल रही हैं। रूसी डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड के सहयोग से गमलेय इंस्टीट्यूट ने इस वैक्सीन को विकसित किया है।

 रशियन अकाडमी ऑफ साइंसेज एसोसिएट मेंबर डेनिस लगुनोव ने बताया है कि अगले कुछ ही दिनों में स्पुत्निक वी को अनुमति मिलने वाली है और नागरिकों के इस्तेमाल के लिए सुनिश्चित नीति का अनुसरण करना पड़ेगा। 10 से 13 सितंबर के बीच अनुमतियों की प्रक्रिया पूरी होने के बाद कोरोना वैक्सीन का पहला बैच जारी होगा। उसी दिन से लोगों को वैक्सीन देने का काम भी शुरू होगा।

उन्होंने लोगों से वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन करने को कहा है। हालांकि पहले हाई रिस्क ग्रुप्स को प्रथामिकता दी जाएगी। रूसी स्वास्थ मंत्रालय ने पहले चिकित्सा व स्वास्थ्य कर्मचारी तथा वृद्धों जैसे हाई रिस्क ग्रुप्स को वैक्सीन देने का फैसला किया है।

दूसरी तरफ, वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रॉयल्स का स्पष्ट रिजल्ट मिलने से पहले ही उसे लोगों के बीच ले जाने को लेकर संदेह व्यक्त होने लगे हैं। गौरतलब है कि 11 अगस्त को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने स्पुत्निक वी वैक्सीन को लांच किया था। इस मौके पर कहा था कि वैक्सीन लेने वालों में उनकी एक बेटी भी शामिल है। जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के ताजा आंकड़ों के मुताबिक रूस में 10,27,334 कोरोना वायरस पॉजिटिव मामले दर्ज हुए हैं।

इसे भी पढ़ें : 

रूस के लोगों को बड़ी राहत, इस हफ्ते से उपलब्ध होगी कोरोना वैक्सीन

Related Tweets
Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.