नाइजीरिया : विरोध प्रदर्शन में 69 लोगो की गई जान, प्रदर्शन को रोकने के लिए राष्ट्रपति ने किया आग्रह

24 Oct, 2020 09:23 IST|Sakshi

अबुजा : नाइजीरिया के राष्ट्रपति मुहम्मदु बुहारी ने कहा है कि देश में पुलिस क्रूरता के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में 69 लोग मारे गए हैं। मरने वालों में मुख्य रूप से नागरिक हैं लेकिन पुलिस अधिकारी और सैनिक भी शामिल हैं। उनके प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया कि राष्ट्रपति ने नाइजीरिया के पूर्व नेताओं के साथ एक आपात बैठक में मृतकों की घोषणा की। बैठक का उद्देश्य अशांति को समाप्त करने के तरीके को खोजना था।

एक समूह जिसने प्रदर्शनों को आयोजित करने में अहम भूमिका निभाई, उसने अब लोगों से घर पर रहने का आग्रह किया है। फेमिनिस्ट कोअलिशन ने भी लोगों को अपने राज्यों में जगह-जगह किसी भी कर्फ्यू का पालन करने की सलाह दी। विरोध प्रदर्शन काफी कम हो गया है लेकिन कई शहरों में एक असहज शांति बनी हुई है।

अधिकारियों ने कहा कि लागोस राज्य में लगाए गए कर्फ्यू में ढील दी जाएगी।नाइजीरिया में विरोध प्रदर्शन 7 अक्टूबर को शुरू हुआ, जिसमें ज्यादातर युवा एक कुख्यात पुलिस इकाई, स्पेशल एंटी-रॉबरी स्क्वाड (सार्स) को हटाने की मांग कर रहे थे। यूनिट को कुछ दिनों के बाद भंग कर दिया गया था, लेकिन विरोध जारी रहा। लोगों ने नाइजीरिया के शासन के तरीके में व्यापक सुधार की मांग की।

देश के सबसे बड़े शहर लागोस में मंगलवार को गोलीबारी के बाद प्रदर्शन बढ़ गए। अधिकार समूह एमनेस्टी इंटरनेशनल का कहना है कि सुरक्षाबलों ने कम से कम 12 लोगों को मार डाला। नाइजीरिया की सेना ने किसी भी संलिप्तता से इनकार किया है।

77 साल के राष्ट्रपति बुहारी की शुक्रवार की वर्चुअल बैठक में कहा गया कि उनका प्रशासन प्रदर्शनकारियों की मांगों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है। लेकिन उन्होंने कहा कि उनकी सरकार उन अपराधियों को अनुमति नहीं देगी जिन्होंने विरोध प्रदर्शनों की आड़ में 'गुंडागर्दी' जारी रखना चाहते हैं।

उनके प्रवक्ता ने बताया कि राष्ट्रपति ने बैठक में बताया कि विरोध प्रदर्शन के दौरान 51 नागरिक, 11 पुलिस अधिकारी और सात सैनिक मारे गए है। यह तुरंत स्पष्ट नहीं था कि इन आंकड़ों में मंगलवार को लागोस में सुरक्षा बलों द्वारा कथित तौर पर मारे गए प्रदर्शनकारियों को शामिल किया गया है या नहीं।
राष्ट्रपति ने इससे पहले टेलीविजन पर संबोधित किया, जिसमें उन्होंने प्रदर्शनकारियों से प्रदर्शन को रोकने और इसके बजाय 'समाधान खोजने में' सरकार के साथ सहयोग करने सका आग्रह किया।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.