GHMC Elections 2020: काम से ज्यादा भाग्य पर भरोसा कर रहे उम्मीदवार, ज्योतिषियों के लगा रहे चक्कर

24 Nov, 2020 11:07 IST|सुषमाश्री
GHMC उम्मीदवारों को काम से ज्यादा भाग्य पर भरोसा

जीत को लेकर आश्वस्त होना चाहते हैं उम्मीदवार

लगभग हर मंदिर के लगा रहे चक्कर

​उम्मीदवार कर रहे विशेष पूजा-अर्चना

हैदराबाद: चुनाव लोकसभा (Loksabha) के हों, विधानसभा (Vidhan Sabha) के हों या फिर म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन (Municipal Corporation) के, हर जगह उम्मीदवारों का ध्यान काम करने से कहीं ज्यादा जीत के लिए पूजा पाठ और कर्मकांड करने में देखने को मिलता है। GHMC Elections 2020 में भी हालात कुछ ऐसे ही देखने को मिल रहे हैं।

यहां जीएचएमसी चुनाव में लगभग सभी पार्टी के उम्मीदवारों को ज्योतिषियों और मंदिरों के चक्कर काटते हुए देखा जा रहा है। ज्यादातर उम्मीदवारों का मानना है कि उनकी नैया पार लगाने का यही एकमात्र तरीका है। उन्हें काम और वायदों से कहीं ज्यादा भगवान पर भरोसा है।

जीत को लेकर आश्वस्त होना चाहते हैं उम्मीदवार

जिन उम्मीदवारों को​ टिकट मिला है, उनमें से अधिकतर अपनी जीत को लेकर आश्वस्त होने के लिए मंदिरों में भगवान का आशीर्वाद लेने और जीत के उपाय करने के लिए ज्योतिषियों के चक्कर काट रहे हैं।

चुनाव उम्मीदवार ज्योतिषियों के पास जाकर अपना भविष्य और राशि में दोष के लिए उपाय पूछते नजर आ रहे हैं। नगर में पुजारी भी उम्मीदवार के लिए मंदिरों में विशेष पूजा का आयोजन कर रहे हैं। शहर के प्रतिष्ठित मंदिरों में उम्मीदवारों की भीड़ लगी है।

लगभग हर मंदिर के लगा रहे चक्कर

इनमें प्रमुख रूप से बलकमपेट स्थित श्रीयेल्लम्मा मंदिर, सिकंदराबाद​ स्थित श्री उज्जैनी महाकाली मंदिर, दिलसुखनगर स्थित श्रीसाईं बाबा मंदिर, श्रीनगर कॉलोनी स्थित श्री वेंकटेश्वर स्वामी मंदिर समेत अन्य कई मंदिर शामिल हैं।

इन मंदिरों में विशेषतौर पर अलग अलग उम्मीदवारों को विशेष पूजा अर्चना करवाते हुए देखा जा रहा है। अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए ये उम्मीदवार कुंडली में मौजूद विभिन्न दोषों को भी दूर करने की कोशिश कर रहे हैं।

​उम्मीदवार कर रहे विशेष पूजा अर्चना

बलकमपेट स्थित श्री येल्लम्मा मंदिर के कार्यकारी अधिकारी के अनुसार, श्री येल्लम्मा मंदिर में विभिन्न पार्टियों के 25 उम्मीदवारों ने दर्शन कर विशेष पूजा अर्चना करवाई है। उनका प्रगाढ़ विश्वास है कि माता भक्तों की हर मनोकामना पूर्ण करती हैं।

इसी प्रकार सिकंदराबाद के श्रीउज्जैनी महाकाली मंदिर में भी तेरास (तेलंगाना राष्ट्र समिति), भाजपा के उम्मीदवारों ने विशेष पूजा कर माता का आशीर्वाद प्राप्त किया। श्रीसाईं बाबा को मानने वाले भक्त भी दिलसुखनगर के श्रीसाईं बाबा मंदिर में विशेष पूजा करवा रहे हैं।

जीत का एकमात्र तरीका है काम

हालांकि ज्योतिषियों का कहना है कि ज्योतिष विज्ञान केवल जीतने का अनुमान लगा सकता है जबकि उम्मीदवारों के ​किए गए अच्छे कार्य और कड़ी मेहनत से ही जीत संभव है। ज्योतिष विज्ञान दोषों को दूर करने के उपाय बता सकता है लेकिन जीत और हार तो उम्मीदवारों के जनता के लिए किए गए कार्यों पर ही निर्भर करता है।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.