जन्मदिन विशेष : हर दिल अजीज थे मोहम्मद अजीज, इस गाने ने दिलाई थी पहचान

2 Jul, 2020 02:10 IST|Sakshi
गायक मोहम्मद अजीज ( फोटो : सौ, सोशल मीडिया)

लक्ष्मीकांत प्यारेलाल के अजीज

 20 हजार से भी ज्यादा गाने गाए

मोहम्मद अजीज के मशहूर गाने

हैदराबाद : 90 के दशक के मशहूर गायक मोहम्मद अजीज भले ही आज हमारे बीच नहीं है, लेकिन उनके चाहने वाले आज भी उनके गाये हुए गानों को गुनगुनाते हैं। लोग उन्हें लोग प्यार से मुन्ना भी कहकर बुलाते थे। मोहम्‍मद रफी की गायकी का उन पर गहरा प्रभाव था। मोहम्मद रफी की आवाज के फैन होने की वजह से मोहम्मद अजीज को बचपन से ही सिंगिंग में शौक था। अजीज ने बंगाली फिल्म 'ज्योति' से डेब्यू किया। वह साल 1984 में कोलकाता से मुंबई चले आए। आज मोहम्मद अजीज का जन्मदिन है। इस मौके पर हम आप को उनसे जुड़ी खास बातें बताएंगे, जो शायद आप नहीं जानते होंगे। 

मरफी के मुन्ना से मिला नाम

 मोहम्मद अजीज का जन्म 2 जुलाई 1954 को कोलकाता, पश्चिम बंगाल के गुमा में हुआ। उनका पूरा नाम  सईद मोहम्मद अजीज उल नबी था। वह अक्सर रेडियो पर गाने सुना करते और जब भी मोहम्मद रफी का कोई गाना बजता, ये वैसे ही तल्लीन हो जाते, जैसे मरफी रेडियो के विज्ञापन का मुन्ना दिखता था। इसी के चलते मोहम्मद अजीज को बचपन में सब लोग प्यार से मुन्ना कहकर बुलाने लगे। इतना ही नहीं उनके गानों में मोहम्मद अजीज की बजाय मुन्ना अजीज ही नाम लिखा मिलता है। उन्होंने रफी की याद में गीत- मोहम्मद रफ़ी तू बहुत याद आया' 1990 में आई फिल्म 'क्रोध' के लिए गाया था।

ना फनकार तुझसा तेरे बाद आया

ना फनकार तुझसा तेरे बाद आया

मोहम्मद रफ़ी तू बहुत याद आया

मोहम्मद रफ़ी तू बहुत याद आया

काम आया गुरु का आशीर्वाद : 

मोहम्मद अजीज कोलकाता के रेस्टोरेंट गालिब में  रफी के गाने सुनाया करते और दर्शक उनको वाहवाही के अलावा कभी कभी अच्छी बख्शीश भी दे जाया करते थे। इस रेस्तरां में उस दौर के तमाम बड़े फिल्म निर्माता आया करते थे। बंगला सिनेमा में मोहम्मद अजीज की एंट्री भी इसी रेस्तरां में मिले फिल्म निर्माताओं के चलते ही हुई। रेस्टोरेंट में गाना गाने वाले मोहम्मद अजीज को बतौर गायक पहला मौका 1984 में बनी बंगाली फिल्म ज्योति से मिला। इस फिल्म के निर्माता की मुलाकात मोहम्मद अजीज से 'रेस्टोरेंट गालिब' में हुई थी। इस फिल्म में गाने के बाद मोहम्मद अजीज संगीत की दुनिया में नाम कमाने के लिए मुंबई चले आए। 

‘मर्द तांगे वाला’ ने बदल दी तकदीर

फिल्म ज्योति में गाने के बाद मोहम्मद अजीज को 1984 में ही हिंदी फिल्म 'अम्बर' में गाने का मौका मिला। इसी दौरान मोहम्मद अजीज की मुलाकात संगीतकार अनु मलिक से हुई। अनु भी उस वक्त हिंदी सिनेमा में संघर्ष कर रहे थे। कुछ दिनों बाद 1985 में अनु मलिक ने मोहम्मद अजीज के सामने अमिताभ बच्चन की फिल्म मर्द  में मर्द तांगेवाला गाना गाने का प्रस्ताव रखा। मोहम्मद अजीज ने इसे स्वीकार कर लिया और इस गाने के बाद से उनका नाम पूरी हिंदी सिनेमा में फैल गया। 

  लक्ष्मीकांत प्यारेलाल के अजीज

मोहम्मद अजीज जब हिंदी सिनेमा में आए तो उस समय संगीतकार लक्ष्मीकांत प्यारेलाल की जोड़ी शिखर पर थी। फिल्म मर्द के बाद लक्ष्मीकांत प्यारेलाल की नजर मोहम्मद अजीज पर गई और उन्होंने 1986 में मोहम्मद अजीज को फिल्म 'आग और शोला' में अपने संगीत पर गाने का मौका दिया। उसके बाद मोहम्मद अजीज लक्ष्मीकांत प्यारेलाल की पहली पसंद बन गए और उन्होंने लक्ष्मीकांत प्यारेलाल की जोड़ी के साथ 30 से ज्यादा फिल्मों में काम किया।  इसके अलावा मोहम्मद अजीज ने राहुल देव बर्मन, बप्पी लाहिरी, राजेश रोशन, राम लक्ष्मण, आनंद मिलिंद, जतिन ललित जैसे संगीतकारों के निर्देशन में गाने गाए।

क्षेत्रीय संगीत में भी थी महारत

मोहम्मद अजीज उन गायकों में से है जिन्होंने हिंदी के साथ साथ क्षेत्रीय संगीत में भी काम किया और उसको बढ़ावा दिया। इन्होंने हिंदी के साथ साथ बंगाली और उडिय़ा फिल्मों में भी काम किया। 1985 के बाद इन्होंने बंगाली और उडिय़ा भाषा में कई भजन  गाए। 

इस गाने से मिली मोहम्मद अजीज को सोहरत

मोहम्मद अजीज को सबसे ज्यादा सोहरत उनके गाने 'आपके आ जाने से' मिली। यह गाना लोगों के बीच जबरदस्त हिट हुए थे। इसके बाद अजीज ने कई फिल्मों के हिट गाने गाए। लाल दुपट्टा मलमल का, मैं से मीना से न साकी से जैसे सैकड़ों हिट गाने गाए हैं। अजीज ने मर्द के अलावा बंजारन, आदमी खिलौना है, लव 86, पापी देवता, जुल्म को जला दूंगा, पत्थर के इंसान, बीवी हो तो ऐसी, बरसात की रात जैसी फिल्मों में गाने गाए।

मोहम्मद अजीज के मशहूर गाने :

तेरी बेवफाई का शिकवा (राम अवतार), सावन के झूले (निगाहें), आदमी जिंदगी और ये (विश्वात्मा), उगली में अंगूठी (रामअवतार), आज सुबह जब मैं जगा (आग और शोला), प्यार हमारा अमर रहेगा (मुद्दत), आपके आ जाने से (खुदगर्ज), मैं तेरी मोहब्बत में (त्रिदेव) जैसे कई हिट गीत गाए। 

मोहम्मद अजीज ने गोविंदा, ऋषि कपूर,  सनी देओल और अनिल कपूर जैसे कई अभिनेताओं को अपनी आवाज दी और लता मंगेशकर, आशा भोंसले और अनुराधा पौडवाल जैसी कई बेहतरीन गायिकाओं के साथ युगल गीत भी गाए।

 20 हजार से भी ज्यादा गाने गाए

मोहम्मद अजीज ने अपने पूरे जीवन में 20 हजार से भी ज्यादा गाने गाए। उन्होंने हिंदी सिनेमा की हर बड़ी शख्सियत के साथ काम किया। मोहम्मद अजीज 80 और 90 के दशक के सबसे बेहतरीन गायक माने जाते थे लेकिन आश्चर्य कि उनको एक भी फिल्मफेयर या राष्ट्रीय पुरस्कार नही मिला। इसके बाद भी मोहम्मद अजीज आखिरी समय तक सारे शिकवे गिले भुलाकर ही जीते रहे और दिल का दौरा पडने से दुनिया छोड़ गए।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.