वरिष्ठ एक्ट्रेस आशालता का कोरोना से हुआ निधन, 'जंजीर' में बनी थीं अमिताभ बच्चन की मां

22 Sep, 2020 16:19 IST|मीता
सोशल मीडिया के सौजन्य से

बॉलीवुड की वरिष्ठ एक्ट्रेस आशालता का निधन 

जंजीर में बनीं थी अमिताभ बच्चन की मां 

मुंबई: बॉलीवुड में अब तक कई कलाकारों की जान ले चुका है कोरोना। आज कोरोना से वरिष्ठ एक्ट्रेस आशालता का निधन हो गया। आशालता जिनका पूरा नाम आशालता वाबगांवकर था, का मंगलवार को 83 साल की उम्र में निधन हो गया। वे कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद से महाराष्ट् के सातारा में एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती थीं। मंगलवार सुबह करीब 4.45 मिनट पर उन्होंने आखिरी सांस ली।

उनके परिवार ने बताया कि सतारा अस्पताल में मराठी सीरियल 'आई कलुबाई' की शूटिंग से पहले कोरोना जांच के लिए पहुंची थीं। जिसमें वह वायरस से संक्रमित पाई गई थीं। आशालता वाबगांवकर का अंतिम संस्कार सतारा में ही किया जाएगा।

आशालता वाबगांवकर मराठी और हिंदी फिल्मों की मशहूर अभिनेत्रियों में से एक थीं। उन्होंने कई फिल्मों में अपने शानदार अभिनय से बड़े पर्दे पर अमिट छाप थोड़ी थी। उनका जन्म 2 जुलाई साल 1941 को गोवा में हुआ था। आशालता वाबगांवकर ने 100 से ज्यादा  फिल्मों में काम किया था। अभिनय के साथ ही उन्होंने मराठी फिल्मों के लिए गाने भी गाए थे। 


आशालता वाबगांवकर ने कई शानदार हिंदी फिल्में भी की हैं। उनकी पहली बॉलीवुड फिल्म 'जंजीर' थी। इस फिल्म में आशालता वाबगांवकर ने अमिताभ बच्चन की सौतेली मां का किरदार किया था। यह फिल्म साल 1973 में आई थी। वहीं आशालता वाबगांवकर को बॉलीवुड में असली पहचान बासु चटर्जी की फिल्म अपने पराए से मिली थी। इस फिल्म के लिए उन्हें फिल्मफेयर का सह कलाकार पुरस्कार मिला था। 

आशालता वाबगांवकर ने अंकुश, अपने पराए, आहिस्ता आहिस्ता, शौकीन, वो सात दिन, नमक हलाल और यादों की कसम सहित कई शानदार फिल्में की थीं। 

'द गोवा हिंदू एसोसिएशन' द्वारा प्रस्तुत नाटक 'संगीत सेनशैकोलोल' में रेवती की भूमिका में आशालता ने अपनी नाटकीय करियर की शुरुआत की। मराठी नाटक 'मत्स्यगंधा' आशालता के अभिनय करियर में एक मील का पत्थर साबित हुआ। इसमें उन्होंने 'गार्द सबभोति चली सजनी तू तर चफकली', 'अर्थशुन्य बोसे मझला कला जीवन' गीत भी गाया था।
 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.