वरलक्ष्मी व्रत पर अवश्य सुनें ये पावन कथा, राशि अनुसार करें ये खास उपाय

31 Jul, 2020 05:50 IST|Sakshi
डिजाइन फोटो

सावन के अंतिम शुक्रवार को करते हैं वरलक्ष्मी व्रत 

वरलक्ष्मी व्रत पर पूजा के बाद जरूर सुनें ये कथा

वरलक्ष्मी व्रत पर राशि अनुसार करें ये उपाय

सावन में शिव पूजा की तरह ही महत्वपूर्ण है अंतिम शुक्रवार को मां लक्ष्मी की पूजा का पावन पर्व वरलक्ष्मी व्रत। वरलक्ष्मी व्रत करने से मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा करने से आर्थिक संकट दूर होते हैं और सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। 
 
वरलक्ष्मी व्रत पर शुभ मुहूर्त में विशेष रूप से मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है और उनसे धन-धान्य का वरदान मांगा जाता है। पर वरलक्ष्मी पूजा की कथा पढ़ना या सुनना आपके लिए अत्यंत आवश्यक है क्योंकि कोई भी व्रत कथा पढ़े या सुनें बिना पूर्ण नहीं होता 

वरलक्ष्मी व्रत कथा 

वरलक्ष्मी कथा के अनुसार मगध नामक राज्य में एक कुंडी नाम का नगर था। इस नगर का निर्माण स्वर्ग के द्वारा हुआ था। कुंडी नगर में एक ब्राह्मणी रहा करती थी। जिसका नाम चारूमति था। वह अपने परिवार के साथ इस नगर में रहती थी। चारूमति एक आदर्श नारी थी। वह अपने सास-ससुर और पति के साथ- साथ मां लक्ष्मी की भी पूजा - अर्चना किया करती थी। वह पूर्णत: एक आदर्श नारी थी।

एक बार चारूमति के स्वप्न में मां लक्ष्मी प्रकट हुईं और उससे बोली कि हे चारूमति तुम हर शुक्रवार को मेरा वरलक्ष्मी का व्रत किया करो। अगर तुम ऐसा करती है तो तुम्हारी सभी इच्छाओं की पूर्ति होगी और तुम्हें मनोवांछित फल की प्राप्ति भी होगी। 

अगले ही दिन चारूमति ने मां लक्ष्मी की आज्ञा के अनुसार नगर की नारियों के साथ वर लक्ष्मी का व्रत करके मां लक्ष्मी की विधिवत पूजा की। जब पूजा संपन्न हुई तो सभी नारियां कलश की परिक्रमा करने लगी। 

कलश की परिक्रमा करते ही सभी स्त्रियों का शरीर स्वर्ण के आभूषणों से सज गया। इतना ही नहीं उन सभी स्त्रियों के घर भी स्वर्ण के बन गए। इसके साथ ही उन सभी के घर हाथी, घोड़े और अन्य पशु भी आ गए। जिसके बाद सभी स्त्रियों ने चारूमति को धन्यवाद दिया और उसकी प्रशंसा भी की क्योंकि चारूमति के स्वप्न में ही आकर मां लक्ष्मी ने वरलक्ष्मी व्रत के बारे में बताया था। 

इस कथा को भगवान शिव ने भी माता पार्वती को सुनाया था। शास्त्रों के अनुसार वरलक्ष्मी व्रत की कथा सिर्फ सुनने मात्र से ही मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त हो जाती है और जो भी नारी या पुरुष इस व्रत को करता है उसे अखंड लक्ष्मी की प्राप्ति होती है। इस संसार के सभी नारी और पुरुषों को वर लक्ष्मी व्रत अवश्य करना चाहिए।

वरलक्ष्मी व्रत पर पूजा के साथ-साथ अगर कुछ खास उपाय किए जाएं तो सब संकट दूर होकर मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। अगर ये उपाय राशि अनुसार किए जाए तो लाभ दोगुना हो जाता है। 

तो आइए जानते हैं वरलक्ष्मी व्रत पर राशि अनुसार करें कौन से उपाय .....

मेष- आप अपने जीवन में सुख बनाये रखना चाहते हैं तो आज के दिन बाजार से मां लक्ष्मी की कमल के फूल पर बैठी हुई एक तस्वीर लाएं और अपने मन्दिर में स्थापित करें। इसके बाद देवी मां को सबसे पहले पुष्प अर्पित करें। फिर धूप-दीप आदि से उनकी पूजा करें। आज के दिन ऐसा करने से आपके जीवन में सुख बना रहेगा।

वृषभ- अगर आप अपने सौभाग्य में बढ़ोतरी चाहते हैं तो इसके लिये आज के दिन एक रुपये का सिक्का लें और उसे अपने मन्दिर में मां लक्ष्मी के आगे रख दें। अब सबसे पहले मां लक्ष्मी की उचित प्रकार से पूजा-अर्चना करें। फिर उस सिक्के की भी उसी प्रकार से पूजा करें और आज पूरे दिन उसे मन्दिर में ही रखा रहने दें। अगले दिन उस सिक्के को उठाकर एक लाल कपड़े में बांधकर अपने पास रख लें।

मिथुन-अगर आप अपना स्वास्थ्य अच्छा बनाये रखना चाहते हैं तो उसके लिये आज के दिन आपको देवी लक्ष्मी के मन्दिर में शंख चढ़ाना चाहिए। साथ ही देवी मां को घी और मखाने का भोग लगाना चाहिए और उनके आगे हाथ जोड़कर अपने अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करनी चाहिए। 

कर्क- अगर आप अपनी धन-सम्पदा में बढ़ोतरी करना चाहते हैं तो इसके लिये आज के दिन एक छोटा-सा मिट्टी का कलश लें और उसे चावल से भर दें। चावल के ऊपर एक रूपये का सिक्का और एक हल्दी की गांठ रखें। अब उस पर ढक्कन लगाकर मां लक्ष्मी का आशीर्वाद लेकर उसे किसी मन्दिर के पुजारी को दान कर दें। आज के दिन ऐसा करने से आपकी धन-सम्पदा में खूब बढ़ोतरी होगी।

सिंह-अगर आप किसी महत्वपूर्ण डील के लिये आज के दिन कहीं बाहर जा रहे हैं और आप उसमें अपनी सफलता सुनिश्चित करना चाहते हैं तो उसके लिये आज के दिन आपको घर से बाहर जाते समय पहले लक्ष्मी मां को प्रणाम करना चाहिए, उनका आशीर्वाद लेना चाहिए। उसके बाद थोड़ा-सा दही-चीनी खाकर, पानी पीकर घर के बाहर जाना चाहिए।

कन्या- अगर आप अपने बिजनेस में आर्थिक रूप से लाभ पाना चाहते हैं, अपने बिजनेस को बहुत आगे तक ले जाना चाहते हैं तो आज के दिन आपको सुबह स्नान आदि के बाद साफ कपड़े पहनकर, आसन पर बैठकर मां लक्ष्मी के मंत्र का जाप करना चाहिए। मंत्र इस प्रकार है-
ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नमः
आज के दिन आपको इस मंत्र का कम से कम 11 बार जाप करना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आपको अपने बिजनेस में आर्थिक रूप से लाभ पाने के कई मौके मिलेंगे।

तुला- अगर आपके बच्चों की तरक्की में आर्थिक रूप से किसी प्रकार की बाधा आ रही है और आपको किसी प्रकार की मदद नहीं मिल पा रही है तो आज के दिन हो सके तो 11 कन्याओं को घर बुलाकर खाना खिलाना चाहिए। अगर 11 को न खिला सकें तो 9 कन्याओं को खिलाना चाहिए। नहीं तो 7 कन्याओं को खिलाएं, नहीं तो 5 कन्याओं को खिलाएं। अगर वो भी न हो सके तो किसी एक कन्या को खाना खिलाएं। ये आपकी श्रद्धा पर निर्भर करता है कि आप कितनी कन्याओं को भोजन कराते हैं। भोजन कराने के बाद कन्या के पैर छूकर आशीर्वाद लेना न भूलें। 

वृश्चिक-अगर आप अपने जीवन में खुशियों का संचार करना चाहते हैं तो उसके लिये आज के दिन आपको सुबह स्नान आदि के बाद साफ कपड़े पहनकर सबसे पहले देवी मां के आगे हाथ जोड़कर प्रणाम करना चाहिए। फिर दाहिने हाथ में फूल लेकर देवी मां के आगे रखें और उन्हीं फूलों के ऊपर एक मिट्टी के दीपक में घी डालकर, रूई की बाती लगाकर ज्योत जलाएं। साथ ही देवी मां को लाल चुनरी चढ़ाएं। आज के दिन ऐसा करने से आपके जीवन में ढेर सारी खुशियों का संचार होगा।

धनु-अगर आप चाहते हैं कि आपके जीवनसाथी की खूब तरक्की हो, उनकी सैलरी में बढ़ोतरी हो जाये, तो इसके लिये आज के दिन आपको सुबह स्नान आदि के बाद देवी लक्ष्मी के इस मंत्र का जाप करना चाहिए। मंत्र इस प्रकार है-“श्रीं ह्रीं श्रीं’
आज के दिन आपको इस मंत्र का कम से कम एक माला, यानि 108 बार जाप करना चाहिए। आज के दिन इस मंत्र का जाप करने से आपके जीवनसाथी की खूब तरक्की होगी और उनकी सैलरी में भी बढ़ोतरी होगी।

मकर-अगर आप जीवन में अपने आपको एक बेहतर पॉजिशन पर स्टैंड कराना चाहते हैं तो इसके लिये आज के दिन देवी लक्ष्मी को केसर का तिलक लगाएं। साथ ही दूध- चावल की खीर बनाकर, उससे देवी मां को भोग लगाएं। बाद में प्रसाद के रूप में खीर को छोटे बच्चों में बांट दें और स्वयं भी थोड़ा-सा प्रसाद खा लें। आज के दिन ऐसा करने से आप जीवन में एक बेहतर पॉजिशन पर स्टैंड करेंगे।

कुंभ-अगर आप चाहते हैं कि आपके घर की तिजोरियां हमेशा धन से भरी रहें और आपके ऊपर मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहे, तो इसके लिये आज के दिन आपको सुबह स्नान आदि के बाद एक कटोरी में थोड़ी-सी हल्दी लेनी चाहिए और उसे पानी की सहायता से घोलना चाहिए। अब इस हल्दी से अपने घर के बाहर मेन गेट के दोनों तरफ पहले जमीन पर छोटे-छोटे पैर के चिन्ह बनाएं। फिर गेट के दोनों तरफ दिवार पर एक-एक स्वास्तिक का चिन्ह बनाएं और देवी लक्ष्मी का ध्यान करें। 

मीन-अगर आप अपने परिवार के सदस्यों की सुख-समृद्धि बरकरार रखना चाहते हैं तो आज के दिन आपको मिट्टी की लक्ष्मी-गणेश जी की मूर्ति लेनी चाहिए और उन्हें अपने घर के ईशान कोण में, यानि उत्तर-पूर्व दिशा के कोने में एक लकड़ी की चौकी पर, किसी बर्तन में स्थापित करना चाहिए। फिर उन्हें दूध से स्नान करना चाहिए। इसके बाद शुद्ध जल से स्नान कराना चाहिए। फिर उन मूर्तियों को बर्तन में से निकालकर, कपड़े से पोंछकर अपने मन्दिर में स्थापित करें और बर्तन में पड़े पानी और दूध को पूरे घर में छिड़क दें। इसके बाद देवी मां के आगे घी का दीपक जलाएं और हाथ जोड़कर प्रणाम करें। 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.