सोमवार को यूं करेंगे भोलेनाथ की पूजा तो हर इच्छा होगी पूरी, मिलेगा सुख-संपत्ति का वरदान

29 Jun, 2020 04:00 IST|Sakshi
सोमवार शिव पूजा

भगवान शिव को प्रिय है सोमवार 

सोमवार को यूं करें शिव पूजा 

शिव पूजा में अपनाएं खास नियम

हम सब जानते ही हैं कि सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित है और इस दिन भोलेनाथ को विशेष पूजा-अर्चना से प्रसन्न किया जाता है और व्रत भी रखा जाता है। वैसे तो भगवान शिव ही एकमात्र ऐसे भगवान हैं जो सबसे जल्दी अपने भक्त पर प्रसन्न होते हैं और उनकी पूजा किसी विशेष तरीके से न करके सादगी से भी की जा सकती है। वहीं अगर हम कुछ नियम अपनाकर ये पूजा व व्रत करें तो मनचाहा फल पा सकते हैं और हमारे सारे कष्ट भी जल्द ही दूर हो सकते हैं।

शिवपुराण के अनुसार प्रत्येक सोमवार को भगवान शिव शंकर की पूजा करने से सभी दुखों से छुटकारा पाया जा सकता है। मान्यता यह भी है कि यदि किसी व्यक्ति पर भोलेनाथ प्रसन्न हो जाएं तो इससे उस व्यक्ति की कुंडली से सभी प्रकार के दोष दूर हो जाते हैं। इसके अलावा जो भी लोग आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं उन्हें छुटकारा मिल जाता है। लेकिन ध्यान रहे सोमवार के दिन भगवान शिव जी की पूजा करते समय आपको कुछ खास बातों का ध्यान अवश्य रखना होगा। 

तो आइए जानते हैं शिव पूजा से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें...

- सोमवार का व्रत करते हैं तो आप सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठ जाएं और नहाने के पानी में कुछ काले तिल डाल लें तो आपके लिए यह उपाय लाभकारी साबित हो सकता है।

- आमतौर पर तो भगवान शिव की पूजा में सबसे पहले उनका गंगाजल से अभिषेक किया जाता है पर विशेष पूजा में आप पंचामृत से भी अभिषेक कर सकते हैं।

- पूजा के समय महामृत्युंजय मंत्र का जाप भी किया जा सकता है और यह बेहद फलदायी साबित होता है।

- शिव के पूजन से पहले आपको अपने मस्तक पर चंदन अथवा भस्म का त्रिपुंड लगाना चाहिए।

- सोमवार के दिन सफेद चन्दन से ग्यारह बेलपत्र पर ऊँ नम:शिवाय लिखकर शिवजी को चढ़ाने चाहिए। 

- सोमवार के दिन भगवान शिव के सामने घी का दीपक जलाएं और फिर 108 बार ऊँ नम: मंत्र कस जाप करें। 

- वैसे तो शिवजी को दूध अर्पित करने की परंपरा बहुत पुरानी है। इस वजह से सोमवार के दिन चांदी के बर्तन में शिव शंकर को मीठा दूध अर्पित करना बेहद शुभ माना जाता है। 

- कहा जाता है कि भगवान शिव को जल चढ़ाने से आपकी इच्छाएं जल्द ही पूर्ण हो जाती है। इस वजह से सोमवार के दिन ताम्बे के बर्तन में जल भरकर थोड़ा सा केसर मिला दें और फिर इसे शिवजी को अर्पित करें। 

- ध्यान रखें आपको सोमवार के दिन ऊँ नम:शिवाय का जप करते रहना चाहिए। 

- इमरती भी भगवान शंकर को प्रिय है तो आप पूजा के बाद इसका भोग भी लगा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : 

जानें आखिर क्यों इस बार श्राद्ध के तुरंत बाद शुरू नहीं होंगे नवरात्र, ये है कारण

1 जुलाई से शुरू होगा चातुर्मास, अधिकमास के कारण देर से आएंगे सारे त्योहार

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.