अगर गलती से आपका व्रत हो जाए खंडित तो करें ये उपाय, नहीं लगेगा दोष

20 Oct, 2020 15:04 IST|मीता
नवरात्रि व्रत

नवरात्रि में होता है नौ दिनों के व्रत का महत्व 

व्रत अगर खंडित हो जाए तो करें ये उपाय 

शारदीय नवरात्रि चल रही है और इन नौ दिनों में जहां लोग घर में माता रानी को विराजित करते हैं, पूजा-अर्चना करते हैं वहीं नौ दिनों तक व्रत भी करते हैं और इन नौ दिनों में पूरा ध्यान रखते हैं कि व्रत ना टूटे और सारे नियमों का पालन हो। 

वहीं कई बार भूलवश व्रत भंग हो जाता है या फिर टूट जाता है और व्रत दोष उत्पन्न होता है। ऐसे में हमें समझ में नहीं आता कि आखिर कैसे इस दोष से मुक्त हुआ जाए।
तो चिंता ना करें ऐसे धर्म संकट से बचने के लिए भी शास्त्रों में खास बातें बताई गई है। 

तो आइए यहां जानते हैं व्रत खंडित होने पर क्या करना चाहिए जिससे कि दोष न लगे ...

- अगर आपका भूलवश व्रत खंडित हो गया है तो आपने जिस देवी-देवता के लिए व्रत रखा है उनकी उपासना करते हुए माफी मांगनी चाहिए।

- उन देवी-देवता के नाम का घर में हवन जरूर करवाना चाहिए और व्रत भंग की क्षमा मांगनी चाहिए। हवन के बाद प्रार्थना करते वक्त कहें कि जो हमारे द्वारा व्रत भंग हुआ था उसका दोष दूर करें और व्रत पूर्ण करें।

- व्रत दोष के लिए उस देवी और देवता की मूर्ति बना कर उसको सबसे पहले दूध, दही, शहद और शक्कर को मिलाकर पंचामृत से स्नान कराना चाहिए।

- बनाई गई मूर्ति पर गंध, अक्षत, फूलों और सोलह तरह की पूजा सामग्रियों से पूजा करें।

- जिस देवी-देवता का व्रत टूटता है, उस देवी-देवता के विशेष मंत्र को पढ़ने के साथ उनकी पूजा करनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें : 

हैदराबाद के इस मंदिर के कुएं से माता ने बुझाई थी अपनी प्यास, दर्शन मात्र से तर जाता है जीवन

- व्रत टूट जाने के बाद किसी जानकार पंडित से पूछ कर दान पुण्य जरूर करना चाहिए जिसकी मदद से संबंधित देवी-देवता को मनाने में मदद मिलेगी।

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.