सिर्फ 25 हजार रुपए के इन्वेस्टमेंट से बन सकते हैं आप भी लखपति, करना होगा सिर्फ ये छोटा काम

18 Sep, 2020 19:53 IST|Sakshi

कोरोना काल में देश की आर्थिक गतिविधियों पर बुरा प्रभाव पड़ा है। सारी दुनिया के लगभग तीन चौथाई घरेलू कामगार कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन में अपना कामकाज खो चुके हैं। लॉकडाउन खुलने के बाद भी लोगों में इस महामारी का खौफ कम नहीं हुआ है। कई लोग ऐसे हैं जो कोरोना फैलने के डर से लोगों को बुलाना नहीं चाहते। इससे कामगारों की इनकम का साधन भी बंद हो गया है। 

आमतौर पर ज्यादातर वर्कर्स माइग्रेंट होते हैं जो अपनी आजीविका चलाने के लिए बड़े शहरों में काम करते हैं। लॉकडाउन खुलने के बाद अब भी कई ऐसे कामगार हैं जो 8-10 घंटे काम करने के बाद भी आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं। कोरोना काल के इस दौर में इनकी हालत इतनी बदतर है जिसका अंदाजा लगाना मुश्किल है। हमारे देश में इनकी संख्या लाखों करोड़ों की तादाद में है। 

लोगों की लगातार लोगों कम होती आमदनी वहीं दूसरी ओर बढ़ती बेरोजगारी से लोग परेशान हैं। लेकिन इन सब के बीच एक स्कीम ऐसी भी है जिसमें कम पैसे का  इन्वेस्टमेंट कर लाखों रुपये की कमाई की जा सकती है। तो आइए जानते हैं  वो कौन सी स्कीम है जिससे आप इस कोरोना काल में भी लखपति बन सकते हैं। 

25,000 रुपए में शुरू कर सकते हैं खुद का बिजनेस
हम जिस बिजनेस के बारे में आपको बताने जा रहे हैं। वो बहुत ही कम इन्वेस्टमेंट में आपको ज्यादा मुनाफा दिला सकता है। यह कारोबार उन लोगों के लिए है जो अपना खुद का बिजनेस करना चाहते हैं पर उनके पास पैसों की कमी है। इस बिजनेस की शुरूआत मजह  25,000 रुपये की छोटी पूंजी से शुरू कर सकते हैं। यही नहीं इस बिजनेस को शुरू करने में नेशनल सेंटर फॉर जूट डायवर्सिफिकेशन भी मदद करता है। बता दें कि मौजूदा समय में देशभर में जूट के बैग की मांग में भारी इजाफा देखने को मिल रहा है। अगर कोई व्यक्ति जूट के बैग बनाने का कारोबार शुरू करता है तो उसे काफी फायदा होने की संभावना है।

ये चीजें हैं जरूरी
- एक जूट बैग मेकिंग यूनिट लगाने के लिए पांच सिलाई मशीन की जरूरत होती है
- पांच सिलाई मशीन में 2 भारी काम के इस्तेमाल (हैवी ड्यूटी) के लायक होनी चाहिए
- मशीनों की खरीद पर कुल 90,000 रुपए की लागत आ सकती है।
- इसके अलावा वर्किंग कैपिटल के लिए 1.04 लाख रुपये चाहिए।
- इन सब के अलावा परिचालन लागत अन्य संपत्ति के लिए करीब 58,000 रुपये खर्च करने होंगे।
- कुल मिलाकर इस बिजनेस को शुरू करने की लागत 2.52 लाख रुपए आएगी।


- अब आपको इसके कुल कैपिटल कॉस्ट के आधार पर कर्ज मिलेगा। 
-  इस प्रोजेक्‍ट के लिए आपको 65 फीसदी मुद्रा लोन यानी करीब 1.64 लाख रु मिलेंगे
- इसके बाद 25 फीसदी NCFD कर्ज 63,000 रु. मिल जाएगा। 
- बाकी की रकम यानी 25,000 रुपये का इंतजाम आपको स्वयं करना होगा।

कितना होगा प्रोडक्शन
काम की शुरूआत के बाद अगर आपका सालाना प्रोडक्शन 9,000 शॉपिंग बैग, 6,000 लेडीज बैग, 7500 स्‍कूल बैग, 9,000 जेंट्स हैंड बैग, 6,000 जूट बम्‍बू फोल्‍डर तक बना सकते हैं।

4 लाख रुपये से ज्यादा होगी सालाना कमाई
अब बात करते है इस बिजनेस से होने वाली कमाई की। अगर सालभर में रॉ मैटेरियल, सैलरी, रेंट, लोन समेत अन्य खर्चों पर करीब 27.95 लाख रु का खर्च आ सकता है। इसके बाद आप अगर इन्हे मार्केट में सेल करते हैं तो इससे करीब 32.25 लाख रु. की आमदनी हो सकती है। यानी आपकी एनुअल इनकम 4.30 लाख रु. होगी। अगर इस रकम को महीने के अनुसार देखें तो तकरीबन 36,000 रुपए महीने की आमदनी हो सकती है।
 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.