विकेंद्रीकरण से ही आंध्र प्रदेश के तीन क्षेत्रों का विकास संभव : कल्लम

12 Oct, 2020 10:23 IST|के. राजन्ना
अजेय कल्लम

विकेंद्रीकरण से ही आंध्र प्रदेश का विकास संभव

राजधानी के किसानों की हर संभव मदद मिलेगा

अमरावती : विकेंद्रीकरण से ही आंध्र प्रदेश के तीन क्षेत्रों का विकास संभव है। साथ ही भविष्य में प्रांतीय विद्वेष भी उत्पन्न नहीं होगे। मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी के सलाहकार अयेज कल्लम ने यह बात कही। उन्होंने आगे कहा कि कम से कम निधि से तीन क्षेत्रों में तीन नगरों को विकसित किया जा सकता है। वाईएसआरसीपी लीगल सेल के संयोजक एम मनोहर रेड्डी के नेतृत्व में रविवार को आयोजित वेबिनार ने यह बात कही। 

कल्लम ने आगे कहा कि एक हजार करोड़ रुपये की लागत से विशाखापट्टणम के सीमांत क्षेत्र में आवश्यक प्रशासनिक भवनों का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए आवश्यक जमीन भी उपलब्ध है।

सरकार के सलाहकार ने कहा कि विशाखापट्टणम शहर को बढ़ावा देने से भविष्य में हैदराबाद जैसा होगा। साथ ही एक हजार करोड़ रुपये की लागत कर्नूल में हाईकोर्ट भवन और अन्य सुनिधा के साथ विकसित किया जाएगा। इसके अलावा विधानसभा को अमरावती रखे जाने के चलते यहां के लोगों की समस्याओं का निवारण किया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि कृषि प्रधान क्षेत्र होने के कारण अमरावती में उसके अनुरूप उद्योग स्थापित किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि राजधानी के किसानों की हर संभव मदद की जाएगी। इसी के अंतर्गत 29 गांवों में सड़क और अन्य मूलभूत सुविधा उपलब्ध किये जाएंगे। 

Load Comments
Hide Comments
More News
आंध्र-प्रदेश
मुख्य समाचार
.